Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अमेरिका ने पाकिस्तान को एफ-16 की बिक्री रोकी

  |  2016-01-12 13:54:34.0

f16वाशिंगटन, 12 जनवरी| अमेरिकी कांग्रेस ने पाकिस्तान को 8 नए एफ-16 लड़ाकू विमानों की प्रस्तावित बिक्री पर रोक लगा दी है। पाकिस्तानी मीडिया ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पाकिस्तानी अखबार डॉन ने कूटनीतिक सूत्रों के हवाले से कहा कि इससे कैपिटल हिल में पाकिस्तान विरोधी रुख में बढ़ोतरी का पता चलता है।


रिपोर्ट में कहा गया है कि सांसदों ने इसकी बिक्री रोकने के लिए स्पष्टीकरण और सूचना का नोटिस जारी किया है। साथ ही सीनेट ने प्रशासन को विधायी प्रक्रिया के तहत बिक्री 'स्थगित करने' का नोटिस भी जारी किया है।


डॉन कहता है कि हालांकि इससे प्रस्तावित बिक्री पर पूरी तरह से रोक नहीं लगी है, प्रशासन चाहे तो अब भी पाकिस्तान को इनकी बिक्री कर सकता है, लेकिन पूरी प्रक्रिया में अब वक्त लग सकता है।


माना जाता है कि ओबामा प्रशासन पाकिस्तान को लड़ाकू विमान बेचने की इच्छुक है। हाल ही में अमेरिकी संसद की बहस में सांसदों ने अमेरिका-पाकिस्तान संबंधों और एफ 16 लड़ाकू विमानों के पाकिस्तान द्वारा दुरुपयोग को लेकर सवाल उठाए थे।


सांसद टेड पो ने कहा, "मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि एफ 16, जो कि एक लड़ाकू विमान है। उसका किस प्रकार से मानवीय सहायता पहुंचाने के लिए उपयोग हो सकता है। अगर उन्हें मानवीय सहायता के लिए विमान चाहिए तो वे सी-130 जैसे विमान खरीद सकते हैं। लेकिन एफ 16 का प्रयोग मानवीय सहायता के लिए तो नहीं किया जाएगा।"


सांसद डॉन रोहराबाचेर ने कहा, "हम पाकिस्तान को एफ 16 समेत जो दूसरे लड़ाकू उपकरण देते हैं, पाकिस्तान उसका प्रयोग अपने ही नागरिकों पर करता है, जैसा कि उन्होंने बांग्लादेश में किया था।"


डॉन का कहना है कि ये दोनों सांसद पाकिस्तान विरोधी लॉबी की मदद करते हैं। ये ना सिर्फ पाकिस्तान को सैन्य सामान बेचने का विरोध करते हैं, बल्कि अक्सर अमेरिकी प्रशासन को इस्लामाबाद से संबंध तोड़ने के लिए कहते रहते हैं।


ओबामा प्रशासन ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पिछले साल अक्टूबर में हुई अमेरिका यात्रा के दौरान अनौपचारिक रूप से पाकिस्तान को एफ 16 विमान बेचने की मंशा जाहिर की थी।


इसके बाद प्रशासन ने दिसंबर में 'विदेशी सैन्य वित्तपोषण' की आधिकारिक अधिसूचना जारी की थी।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top