Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

इंडियो ओपन गोल्फ को जल्द मिलेगी भारतीय चैम्पियन : शर्मिला

  |  2015-10-22 18:59:19.0

rs1_6487



गुड़गांव, 22 अक्टूबर. भारत की अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त महिला गोल्फ खिलाड़ी शर्मिला निकोलेट ने हीरो महिला इंडिया ओपन गोल्फ टूर्नामेंट शुरू होने से एक दिन पहले गुरुवार को कहा कि जल्द ही इंडिया ओपन को एक भारतीय चैम्पियन मिलेगी। इंडिया ओपन के मुख्य दौर के मुकाबले शुक्रवार से राष्ट्रीय राजधानी से सटे गुड़गांव के डीएलएफ गोल्फ एंड कंट्री क्लब में शुरू होंगे।

तीन दिनों तक चलने वाला यह टूर्नामेंट में भारत में होने वाला लेडीज यूरोपियन टूर (एलईटी) से मान्यता प्राप्त एकमात्र टूर्नामेंट है। एलईटी के अलावा इसे लेडीज एशियन गोल्फ टूर (एलएजीटी) और भारतीय महिला गोल्फ संघ (डब्ल्यूजीएआई) से भी मान्यता प्राप्त है।


फुल एलईटी कार्ड पाने वाली दूसरी भारतीय खिलाड़ी शर्मिला ने कहा, "इंडिया ओपन में एलईटी और एलएजीटी की कुछ बेहतरीन खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका भारतीय खिलाड़ियों के लिए काफी लाभदायक है। मुझे लगता है कि भारतीय खिलाड़ियों में निरंतर बेहतर प्रदर्शन करने की क्षमता है और जल्द ही इंडिया ओपन को कोई भारतीय चैम्पियन मिलेगी।"

टूर्नामेंट की मुख्य प्रायोजक हीरो मोटोकॉर्प द्वारा प्रायोजित शर्मिला के अलावा भारत की ओर से खिताब की मुख्य दावेदारी हीरो महिला गोल्फ टूर ऑर्डर ऑफ मेरिट में शीर्ष पर मौजूद दिल्ली की वाणी कपूर करेंगी।

शर्मिला और वाणी को हालांकि गत चैम्पियन फ्रांस की ग्वालेडिस नोसेरा के अलावा 2013 में खिताब चुकीं थाईलैंड की थिदापा सुवन्नापुरा, दिग्गज अमेरिकी पुरुष गोल्फ खिलाड़ी टाइगर वुड्स की भतीजी चेयेने वुड्स, तुर्की ओपन विजेता इंग्लैंड की मेलीजा रीड और टिपस्पोर्ट गोल्फ मास्टर्स विजेता हन्नाह बुर्के और ट्रिश जॉनसन से मुख्य चुनौती मिलेगी।

अपने खिताब का बचाव करने लौटीं नोसेरा ने कहा, "भारत में खेलना मुझे हमेशा से अच्छा लगता है। यह मेरी कुछ सबसे पसंदीदा जगहों में से है। पिछले सत्र में दिल्ली गोल्फ क्लब में खिताब जीतने का मैंने लुत्फ उठाया। लेकिन इस बार यह कोर्स पूरी तरह से बदल चुका है और कहीं अधिक चुनौतीपूर्ण हो चुका है।"

नोसेरा ने कहा, "ऑर्डर ऑफ मेरिट में शीर्ष पर आना मेरा लक्ष्य है। लेकिन इस टूर्नामेंट में भी शीर्ष स्थान पाना चाहती हूं।"

हीरो महिला इंडिया ओपन टूर्नामेंट की इनामी राशि को इस बार बढ़ाकर 40 लाख डॉलर कर दिया गया है। टूर्नामेंट भारत की ओर से चुनौती पेश करने वाली अन्य खिलाड़ियों में पिछली बार पांचवां स्थान हासिल करने वाली वैशवी सिन्हा और आठवां स्थान हासिल करने वाली गौरी मोंगा के अलावा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इस वर्ष कई गैर पेशेवर खिताब जीतकर तेजी से उभरीं अदिती अशोक शामिल हैं।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top