Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

इशरत जहां केस में SC में याचिका दायर

 Tahlka News |  2016-03-03 05:34:19.0

ishrat_650x400_41455169304

तहलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली, 3 मार्च. इशरत जहां केस में गुरुवार को सुुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। इस याचिका में पुलिसवालों के खिलाफ दर्ज केस को खत्म करने की मांग की गई है। साथ ही मुठभेड़ में शामिल पुलिसवालों को मुआवजा देने की भी मांग की गई है।

वहीं, इससे पहले इशरत जहां मामले की जांच के लिए बनी एसआईटी के पूर्व प्रमुख सतीश वर्मा ने भी गृह मंत्रालय के अंडर सेक्रेटरी आरवीएस मणि के आरोपों को बेबुनियाद बताया है। आईबी को फंसाने के लिए मणि को टॉर्चर करने के उनके आरोप पर सतीश वर्मा ने कहा कि मणि झूठ बोल रहे हैं।

सतीश वर्मा के बताया कि मणि ने यह भी माना था कि इस मामले में पहले हलफनामे का ड्राफ्ट आईबी ने ही तैयार किया था। सतीश वर्मा ने कहा कि इशरत जहां आईबी का एक सफल ऑपरेशन था, लेकिन एनकाउंटर फर्जी था। वर्मा ने यह भी दावा किया कि डेविड हेडली और लश्कर के इशरत को शहीद बताने के दावे के बावजूद एसआईटी की जांच में उसके आतंकियों से जुड़े होने के कोई सबूत नहीं मिले।


सतीश वर्मा ने बताया, आईबी इस पूरे मामले में अंदर तक शामिल थी और आईबी के अधिकारियों ने इन लोगों को गैर-कानूनी तरीके से अपनी कस्टडी में रखा था और उसके बाद पूर्व नियोजित तरीके से इनका मर्डर किया गया और इस एनकाउंटर को सही दिखाने के लिए मणि साहब ने वो डिटेल्स लिखी थी।

उन्होंने आगे बताया कि ये जो इन्होंने टॉर्चर की बात की है कि सिगरेट से दागा तो बताना चाहता हूं कि सीबीआई की जांच में कभी भी किसी आदमी के साथ ऐसी हरकत नहीं की जाती और मान लीजिए कि अगर मैंने किया तो यह कानून अपराध होगा। भारत सरकार के अफसर हैं, उनको पता होगा कि वह मुझ पर कानूनी कार्रवाई कर सकते हैं।





Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top