Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

इसलिये हटाये गये एटा के एसएसपी

  |  2015-10-14 20:00:55.0

unnamed (2)

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो

लखनऊ, 15 अक्‍टूबर. समाजवादी पार्टी सरकार के करीबी अफसरों में शुमार एसके वर्मा को एटा के एसएसपी पद से हटना पड़ा है। पंचायत चुनाव के दौरान सत्‍ताधारी दल के स्‍थानीय नेताओं के दबाव ने काम करने की शिकायत को लेकर राज्‍य निर्वाचन आयोग ने प्रदेश सरकार से उन्‍हें हटाने के लिये कहा था।


मंगलवार को एटा के विधायक के भतीजे और जिला पंचायत अध्‍यक्ष के बेटे ने जिस तरह की दादागिरी की और पुलिस उपाधिक को गालियां दी उससे आयोग और सरकार दोनों को किरकिरी हुइ थी। एसके वर्मा की जगह वैभव कृष्‍ण को एटा का नया एसएसपी बनाया गया है। ये वही वैभव कृष्‍ण हैं जिन्‍हें कुछ माह पहले ही गाजीपुर के एसपी पद से हटाया गया था। गाजीपुर में वैभव ने सख्‍ती की थी जो वहां के सपा नेताओं को रास नही आई और मुख्‍यमंत्री से शिकायत कर उनका तबादला कराया गया था।


जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को राज्‍य निर्वाचन आयोग ने एटा की डीएम निधि केसरवानी व एसएसपी को कड़ी चेतावनी भी दी थी. साथ ही दोनों अफसरों की भूमिका पर सवाल उठाए थे।


मीडिया में दिखाए जाने के बाद कि किस तरह से स्थानीय गुंडे मतदान के दौरान पुलिस वालों को धमका और गाली दे रहे हैं, आयोग ने यह कार्रवाई की। गाली देने का ऑडियो वायरल होने के बाद आयोग ने सुरेंद्र कुमार वर्मा के खिलाफ प्रतिकूल प्रविष्टि के भी आदेश दिए हैं।


आयोग ने जिले के विकासखंड शीतलपुर और सकीट में हुई हिंसक घटनाओं को गंभीरता से लिया है. आयोग का कहना है कि दूसरे चरण के मतदान के लिए जिले में सीआईएसएफ की एक कंपनी फोर्स भी लगाई गई इसके बावजूद कई मतदान केंद्रों में गड़बड़ी की शिकायतें मिली हैं।




  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top