Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कन्हैया की जीभ काटने पर 5 लाख, गोली मारने पर 11 लाख का इनाम

 Tahlka News |  2016-03-05 05:18:42.0

watchdog_16469_145714370739_650x425_030516080151


तहलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली 5 मार्च. जेएनयू में देशद्रोही नारेबाजी के आरोप में जमानत पर बाहर आए जेएनयूएसयू अध्यक्ष कन्हैया कुमार के सिर पर एक संगठन से 11 लाख रुपये का इनाम रखा है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के बदायूं में भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष कुलदीप वाष्र्णेय ने एलान किया है कि जो शख्स कन्हैया कुमार की जुबान काटकर लाएगा उसे पांच लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा। इस बीच कुलदीप वाष्र्णेय के इस बयान पर काफी विवाद खड़ा हो गया है। कई नेेताओं ने कुलदीप के बयान की कड़ी आलोचना की है। इसके बाद कुलदीप को पार्टी से निकाल दिया गया है।


img_20160305_103544_145715839962_650x425_030516114434


दरअसल कुलदीप कन्हैया कुमार की तरफ से भाजपा और पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ बयानबाजी से नाराज है। 'कुलदीप ने कहा कन्हैया ने हमारे प्रधानमंत्री, पार्टी के खिलाफ अपशब्द कहे हैं। उसने बाकी लोगों को नारे लगाने के लिए उकसाया है इसलिए मैं कन्हैया की जीब काटकर लाने वाले शख्स को पांच लाख रुपए का इनाम दूंगा।'

दिल्ली में पूर्वांचल सेना नाम के संगठन की ओर से लगाए गए पोस्टर में कन्हैया को गोली मारने वाले को 11 लाख रुपये का इनाम दिए जाने का ऐलान किया गया है। हालांकि, प्रेस क्लब के नजदीक लगाए गए गए पोस्टर की सूचना पाकर दिल्ली पुलिस मौके पर पहुंची और सारे पोस्टर फाड़ दिए। इन फटे हुए पोस्टर के साथ पुलिस अधिकारी पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष का पता लगा रही है। पुलिस एसीपी ने सेना अध्यक्ष को पूछताछ के लिए संसद मार्ग थाना बुलाया है।

वहीं, फेसबुक पर ये पोस्ट आने के बाद आप नेता और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया। सिसोदिया ने लिखा, "एक छात्र नेता की जुबान से डर गए नेताजी। 56 इंच बहादुरी के झंडे का क्या हुआ?"


इस बीच दिल्ली पुलिस ने जेएनयू प्रशासन को इस बारे में सूचना देकर कहा है कि कन्हैया की गतिविधियों पर नजर रखा जाए। 17 फरवरी को कन्हैया पर हुए हमले के बाद कोर्ट के निर्देशों के मुताबिक डीसीपी ने पत्र लिखकर बसंत कुंज थाने को इस बारे में आगाह किया गया था। पुलिस ने कहा है कि कैंपस से बाहर निकलने पर कन्हैया के साथ पुलिस सुरक्षा लगी रहेगी।


बताते चले कि कन्हैया कुमार को देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। फिलहाल वो अंतरिम जमानत पर बाहर है। कन्हैया ने जेल से बाहर आते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर हमला किया था।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top