Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

जाट आंदोलन: दिल्ली-चंडीगढ़ हाईवे खुला, हरियाणा में प्रदर्शन जारी

 Tahlka News |  2016-02-22 05:24:00.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली, 22 फरवरी. केंद्र सरकार ने रविवार को जाटों को आरक्षण देने के लिए उच्च स्तरीय समिति बनाने का ऐलान कर दिया, इसके बावजूद जाट प्रदर्शनकारी हरियाणा में सड़कों से हटने को तैयार नहीं है. इस बीच सोमवार को सेना और पुलिस दिल्ली-चंडीगढ़ हाईवे खुलवाने में कामयाब हो गई.


गृह मंत्री ने की शांति बनाए रखने की अपील
गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रवि‍वार को कहा था, 'समिति बनाई गई. सरकार आरक्षण को लेकर तैयार है. कानून व्यवस्था बनाए रखना सरकार की जिम्मेदारी है और सरकार इसके लिए कड़े कदम भी उठा सकती है. मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे शांति बनाए रखें.' केंद्र की ओर से बनाई गई समिति के सदस्यों में सतपाल मलिक, अविनाश राय खन्ना, महेश शर्मा और संजीव बालियान शामिल हैं.


प्रदर्शनकारियों ने कहा- पहले ठोस फॉर्मूला बनाओ
सरकार के ठोस आश्वासन के बावजूद दिल्ली से सटे बहादुरगढ़ में प्रदर्शनकारी सोमवार सुबह भी सड़कों पर डटे रहे. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जब तक ठोस फॉर्मूला नहीं बनाया जाएगा, तब तक वे अपना आंदोलन जारी रखेंगे.


बीजेपी ने दिया जाटों को आश्वासन
इससे पहले हरियाणा बीजेपी के प्रभारी अनिल जैन ने रविवार को आंदोलनकारियों से शांति बनाए रखने और आंदोलन खत्म करने की अपील की. जैन ने बताया कि सरकार द्वारा गठि‍त समिति जाट समुदाय के मांगों पर विचार करेगी, जिसके बाद अंतिम फैसला और आरक्षण की रूपरेखा तय होगी.


आंदोलन के चलते गईं 12 की जान
बीते 9 दिनों से हरियाणा में जारी जाट आंदोलन में हिंसा चरम पर है. आंदोलनकारियों ने अब तक 1000 से ज्यादा वाहनों को आग के हवाले कर दिया है, जबकि 7 जिलों में कर्फ्यू लागू है. इस आंदोलन में अब तक 12 लोगों की जान जा चुकी है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top