Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

जेटली का कबूलनामा , हम एकजुट विपक्ष की ताकत नहीं समझ पाए,बयानों से नुकसान नहीं

  |  2015-11-09 12:46:20.0

jetlyनयी दिल्ली. बिहार में हुई हार की समीक्षा करने के लिए हुई पार्टी की बैठक के बाद अरुण जेटली ने कहा है कि चुनावो में बयानों से नुकसान नहीं हुआ है और किसी एक बयांन से हारजीत नहीं होती अभी इस बैठक में किसी पर कार्यवाही पर विचार नहीं हुआ है.

जेटली ने कहा कि हम विपक्ष की साझा ताकत को समझ नहीं पाए. उन्होंने मोहन भागवत के आरक्षण वाले बयान को हार का कारण मानने से इंकार कर दिया. उन्होंने कहा कि भाजपा की मतों की हिस्सेदारी कम नहीं हुई है और महागठबंधन की जीत इसलिए हुई कि विभिन्न विपक्षी दल एकजुट हो गए।

बीजेपी के दिग्‍गज नेता अरुण जेटली ने कहा है कि विकास के मुख्‍य मुद्दे से ध्‍यान हटाने वाले भाजपा नेताओं के बयान बिहार में पार्टी की हार का कारण बने। जेटली ने कहा, 'मैंने कई बार ऐसे मामलों में हस्‍तक्षेप कर स्थिति को संभाला, लेकिन मीडिया के कैमरे को विकास के मुद्दे से ध्‍यान भटकाने वाले लोगों से खासा लगाव होता है।'


क्‍या बीजेपी ने इन चुनावों को प्रतिष्‍ठा की लड़ाई बना लिया था और परिणाम से मोदी की छवि कहीं न कहीं प्रभावित हुई है, इस सवाल पर जेटली ने कहा, 'मोदी के चुनाव प्रचार का मुख्‍य चेहरा होने में कुछ भी गलत नहीं है। प्रचार में पीएम का एक हद तक असर रहा लेकिन कोई भी चुनाव केवल एक फैक्‍टर से हारे या जीते नहीं जाते। इसके पीछे कई कारक काम करते हैं। '

जेटली ने कहा कि इन नतीजों के कारण आर्थिक सुधार की प्रक्रिया प्रभावित नहीं होगी।उन्होंने कहा, 'मैं इसे अर्थव्यवस्था के लिए झटका नहीं मानता। ढांचागत सुधार प्रक्रिया बरकरार रहेगी। ' यह पूछने पर कि क्या बिहार चुनाव केंद्र की नीतियों के लिए जनमत संग्रह था, जेटली ने कहा, 'जनमत संग्रह शब्द का उपयोग बड़ी लापरवाही से होता है। हर चुनाव जनमत संग्रह नहीं होता। किसी राज्य का चुनाव जनमत संग्रह नहीं होता। आप किसी एक मुद्दे पर चुनाव नहीं लड़ रहे।'

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top