Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

... तो इसलिए राजभवन में रोका गया राष्ट्रगान 

  |  2015-10-31 08:22:05.0

ram-naikतहलका न्यूज ब्यूरो

लखनऊ, 31 अक्टूबर। अखिलेश यादव की नयी कैबिनेट का शपथ ग्रहण समारोह खत्म होते ही राष्ट्रगान की धुन बजनी शुरू हो गयी। राज्यपाल तेजी से अपनी कुर्सी से उठे और उन्होंने हाथ उठाकर राष्ट्रगान से पहले राष्ट्रीय एकता दिवस की शपथ लेने की बात कही। जब तक राज्यपाल अपना हाथ उठाते तब तक राष्ट्रगान शुरू हो चुका था लेकिन उसे कुछ ही सेकेन्ड में रोक दिया गया।

मंत्रियों को उनकी कर्तव्यनिष्ठा  और सत्यनिष्ठा की शपथ दिलाने के बाद राज्यपाल ने शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद सभी लोगों को यह शपथ दिलायी कि मैं सत्यनिष्ठा से शपथ लेता हूं कि मैं राष्ट्र की एकता, अखण्डता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए स्वयं को समर्पित करूंगा इस शपथ में देश की आंतरिक सुरक्षा और पर्यावरण की रक्षा को सुनिश्चित करने में अपना योगदान देने की बात कही गयी है।

राजभवन में राष्ट्रगान रोके जाने के मामले को तूल पकडऩे से पहले ही राजभवन ने इस मुद्दे पर राज्यपाल राम नाइक की स्थिति स्पष्ट करते हुए यह बयान जारी कर दिया कि राज्यपाल राष्ट्रगान की घोषणा को सुन नहीं पाए थे। राज्यपाल ने रोका इसलिए था ताकि राष्ट्रगान से पहले शपथ ग्रहण में मौजूद सभी लोगों को देश की एकता और अखण्डता की शपथ दिलायी जा सके। राष्ट्रगान किसी भी कार्यक्रम का अंतिम कार्यक्रम होता है।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top