Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

दिग्विजय ने कहा, ड्रेस की बजाय नफ़रत वाली सोच बदले आरएसएस

 Tahlka News |  2016-03-13 12:46:24.0


digvijay singh 1तहलका न्यूज़ ब्यूरो 

लखनऊ, 13 मार्च.
कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह का मानना है आरएसएस को अपना ड्रेस बदलने की जगह अपनी उस विचारधारा को बदलने की जरूरत है जिसका आधार नफ़रत और कट्टरवाद फैलाना है. इसके अलावा आरएसएस कितने भी चोले बदल ले कोई फर्क नहीं पड़ने वाला.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आरएसएस के स्वयंसेवक रहे हैं और आज भी उसी विचारधारा के जरिये वे देश में हिन्दू और मुसलमानों के बीच धर्म के आधार पर विभाजन करवाने में लगे हुए हैं.

उच्च शिक्षा संस्थानों में हुयी हालिया घटनाओं पर दिग्विजय का मानना है कि आरएसएस ने सरकार को निर्देश दिए हैं कि वे इन संस्थानों से अराष्ट्रीय तत्वों को बाहर करे . मगर सवाल यह है कि कौन राष्ट्रवाद को तय करेगा. इस देश का कानून या कुछ लोग? ऐसे किसी भी तत्व की पहचान करने के लिए संविधान और नियमो के तहत कार्यवाही होनी चाहिए.


JNU की घटना पर दिग्विजय सिंह ने सवाल उठाया
दिग्विजय सिंह ने कहा कि आखिर क्यों JNU के असली दोषियों को नहीं पकड़ा जा रहा . आज तक सरकार की एजेंसिया न सिर्फ उन चेहरों की पहचान कर सकी हैं और नहीं असली दोषी को गिरफ्तार किया जा सका है. जिसे गिरफ्तार किया गया उसके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला मगर जिनके चेहरे पहचाने गए हैं वे अभी तक पकड़ से बाहर है.

स्मृति की सहयोगी ने बनाया फर्जी वीडियो
दिग्विजय सिंह ने कहा कि अब जब यह साफ़ हो गया है कि जो वीडियो दिखाया गया था वह असली नहीं था तो इस पर कार्यवाही क्यों नहीं हो रही है. वीडियो से छेड़छाड़ करना जुर्म है. उन्होंने आरोप लगते हुए कहा कि मेरी जानकारी के अनुसार यह वीडियो मानव संसाधन मंत्रालय में बना और इसे स्मृति ईरानी की सहयोगी शिल्पी तिवारी ने बनाया . आखिर इसके खिलाफ कोई मुक़दमा क्यों नहीं दर्ज किया गया.

अजीब है मुज्जफरनगर दंगों की रिपोर्ट
मुजफ्फर नगर दंगों पर जस्टिस सहाय आयोग की रिपोर्ट पर सवाल उठाते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह बहुत अजीब है कि इतने बड़े वाकये में कोई दंगा भड़काने का दोषी ही न पाया जाए. आखिर इसमें उन लोगो का जिक्र क्यों नहीं है जिन्होंने सोशल मीडिया पर भड़काने वाले नकली वीडियो चलाये? उन केंद्रीय मंत्रियों के नाम क्यों नहीं इस रिपोर्ट में आये जिन्होंने भड़काने वाले भाषण दिए?

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top