Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

निजी कार्यक्रम के लिए सेना के इस्तेमाल पर घिरी सरकार

 Tahlka News |  2016-03-09 11:02:56.0

rajya sabhaनई दिल्ली। दिल्ली के यमुना किनारे आयोजित होने वाले कार्यक्रम वर्ल्ड कल्चरल फेस्टिवल की गूंज आज संसद में सुनाई दी। राज्यसभा में कांग्रेस सहित विपक्षी सांसदों ने इसे लेकर सरकार को घेरा और पूछा कि नियमों को ताक पर रख इसे क्यों इजाजत दी गई।

जनता दल नेता शरद यादव ने राज्यसभा कहा कि एक आदमी के लिए सेना लगा रखी है। शरद ने पूछा कि वहां किसकी इजाजत से कार्यक्रम हो रहा है? शरद यादव ने कहा, मंत्री जी कह रहे हैं के अनुमति से हो रहा है सब, तो बताएं किसकी अनुमति से हो रहा है।


स पर अरूण जेटली ने कहा, शरदयादव जी वरिष्ठ हैं, लेकिन मामला एनजीटी में चल रहा है। जब मामला कोर्ट में है तो इसे कैसे सदन में उठाया जा सकता है।


सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने भी सेना के इस्तेमाल पर सवाल उठाते हुए पूछा कि क्या किसी निजी कार्यक्रम के लिए सेना की मदद ली जा सकती है? इस मामले में सेना ने निजी संस्था के लिए काम किया है।

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने भी इसे लेकर सरकार पर हमला बोला। आजाद ने पूछा कि इसके लिए पर्यावरण की मंजूरी क्यों नहीं ली गई। सेना की ओर से पुल का निर्माण क्यों किया गया? सुरक्षा को लेकर क्या कदम उठाए गए? आजाद ने कहा कि मैं आर्ट ऑफ लीविंग के कार्यक्रम के विरोध में नहीं हूं। पर एनजीटी ने ही इस पर सवाल उठाए हैं। पर्यावरण मंत्री से सवाल पूछा है क्योंकि उसने नियमों का पालन नहीं किया। एनजीटी ने कहा है कि यमुना के पास निर्माण कार्य आपराधिक कृत्य है। ऐसे निर्माणों की इजाजत नहीं है। पुलिस ने सुरक्षा को लेकर भी सवाल उठाए हैं।

इस पर संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास ने कहा कि पार्टी का कार्यक्रम होगा तो भी हम सुरक्षा देंगे, जहां भी सुरक्षा की ज़रूरत होगी हम देंगे।इस समय इस मामले में एनजीटी सुनवाई कर रहा है, जितने भी कार्यक्रम हो रहे हैं वो अनुमति के साथ हो रहे हैं।

सरकार के जबाव से विपक्ष संतुष्ट नहीं हुआ और सदन में नारेबाजी करने लगा। विपक्ष के सांसदों ने सदन में ‘फौज का गलत इस्तेमाल नहीं करना’ ‘चर्चा करो चर्चा करो’, ‘सेव आर्मी’, ‘रक्षा मंत्री होश में आओ’ के नारे लगाने लगे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top