Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान मार्टिन क्रो का निधन

 Tahlka News |  2016-03-03 12:03:18.0

maऑकलैंड, 3 मार्च. न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मार्टिन क्रो का गुरुवार को 53 साल की उम्र में कैंसर के चलते निधन हो गया। क्रो 2012 से ही कैंसर से पीड़ित थे। लिम्फोमा (खून का कैंसर) से पीड़ित क्रो ने अपने जीवन के अंतिम महीनों में खुद को सार्वजनिक जीवन से अलग कर लिया था।

क्रो ने क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद लेखक, प्रसारणकर्ता और मेंटर के रूप में भी अपनी छाप छोड़ी। ऑर्डर ऑफ ब्रिटिश एम्पायर से सम्मानित क्रो के परिजनों ने एक बयान जारी कर इस दिग्गज खिलाड़ी के ऑकलैंड स्थित निवास पर निधन की पुष्टि की। आस्ट्रेलिया के खिलाफ 1982 में 19 साल की उम्र में पदार्पण करने वाले क्रो को न्यूजीलैंड क्रिकेट इतिहास का सबसे अच्छा बल्लेबाज माना जाता है।


क्रो ने अपने देश के लिए 77 टेस्ट मैचों में 45.36 की औसत से 5,444 रन बनाए जिसमें 17 शतक भी शामिल हैं। उनके नाम 18 अर्धशतक भी दर्ज हैं। उनका सर्वोच्च योग 299 रन रहा है, जो कई सालों तक कीवियों की ओर से खेली गई सबसे बड़ी पारी रही। बाद में ब्रेंडन मैक्लम ने इसे तोड़ा।

इसके अलावा क्रो ने 143 एकदिवसीय मैचों में 38.55 की औसत से अपने देश के लिए 4704 रन बनाए। एकदिवसीय मैचों में उनके नाम चार शतक और 34 अर्धशतक दर्ज हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर 107 नाबाद है। क्रो 1992 में आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की संयुक्त मेजबानी में खेले गए आईसीसी विश्व कप में अपनी टीम के कप्तान थे।

2015 में क्रो को आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल किया गया था। क्रो 1984 से 1988 तक इंग्लैंड की काउंटी टीम समरसेट के लिए भी खेले थे। घुटने में चोट के कारण उन्होंने 1996 में संन्यास ले लिया था। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा कि क्रो ने हमेशा ही टीम को सकारात्मक संदेश दिया था।

विलियमसन ने गुरुवार को विश्व कप की तैयारी करने के लिए टीम की दुबई रवानगी से पहले ऑकलैंड हवाईअड्डे पर कहा कि क्रो के निधन से टीम सदमे में है और टीम की सहानभूति क्रो के परिवार के साथ है। उन्होंने कहा, "मेरी क्रो से थोड़ी बहुत बात हुई थी। वह हमेशा ही सकारात्मक रहते थे। उनके पास हमेशा की साझा करने के लिए अच्छी बातें होती थीं।"

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top