Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पठानकोट आतंकवादी हमले के पीछे जैश-ए-मोहम्मद

  |  2016-01-07 16:41:21.0

pthankot makpaनई दिल्ली, 7 जनवरी| भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने पठानकोट में हुए आतंकवादी हमले की जिम्मेदारी को लेकर अपने पाकिस्तानी समकक्ष नसीर जंजुआ के साथ साझा किए गए सबूतों में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर तथा संगठन व अन्य का नाम लिया है। साल 2002 में प्रतिबंधित होने के बाद पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद दो अन्य नामों से जाना जाता है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने हालांकि किसी समूह का नाम नहीं लिया, जबकि इस बात की पुष्टि की कि पाकिस्तान को पुख्ता सबूत मुहैया कराए गए हैं।


प्रवक्ता ने कहा, "हमने पाकिस्तान से कुछ सूचनाएं साझा की हैं। उन्हें उन सूचनाओं के आधार पर कार्रवाई करनी है। सबूतों में सभी लोगों व समूहों को सम्मिलित किया गया है।" सबूत के बारे में पूछे जाने पर स्वरूप ने कहा कि वे खुफिया जानकारियों को सार्वजनिक नहीं कर सकते। यह सवाल पूछे जाने पर कि दोनों देशों के एनएसए के बीच बातचीत में क्या भारत ने जैश-ए-मोहम्मद का नाम लिया है, प्रवक्ता इसका सीधा जवाब देने से बचते दिखे। स्वरूप ने कहा, "यह मुद्दा पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा उन सबूतों के जांच का विषय है, जिसे भारत ने उन्हें मुहैया कराया है। एक बार जब वे जांच पूरी कर लेंगे, हम जान जाएंगे कि इसके पीछे कौन है।" पठानकोट में भारतीय वायु सेना के अड्डे पर शनिवार तड़के आतंकवादी हमले में सात सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए, इस दौरान सुरक्षाकर्मियों से हुई मुठभेड़ के दौरान पाकिस्तान से सीमा पार कर आए छह आतंकवादी मारे गए। आईएएनएस

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top