Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

'पठानकोट के साजिशकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करे पाकिस्तान'

  |  2016-01-12 11:46:19.0



Pathankot: Security beefed up at Pathankot Air force base during the visit of Prime Minister Narendra Modi days after terrorists attack, in Pathankot. (Photo: IANS)इस्लामाबाद, 12 जनवरी. पाकिस्तान के एक पूर्व राजनयिक ने कहा है कि भारत विरोधी आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई न करने की पाकिस्तान की इच्छा से इस्लामाबाद को उसके किसी भी शत्रु की अपेक्षा अधिक नुकसान उठाना पड़ेगा। समाचार पत्र 'डान' में सोमवार को छपे एक लेख में अशरफ जहांगीर काजी ने कहा है कि पश्चिम के कई विश्लेषकों का मानना है कि पठानकोट में भारतीय वायुसेना अड्डे पर आतंकवादी हमला सुनियोजित था और हमलावरों को खुफिया एजेंसी से सहयोग पाने वाले तत्वों द्वारा निर्देशित किया जा रहा था।

अमेरिका, चीन व भारत में पाकिस्तान के राजदूत रह चुके काजी ने कहा, "कश्मीर मुद्दे के समाधान और काबुल में अपनी पसंद की सरकार के न बनने तक पाकिस्तान अगर भारत व अफगानिस्तान विरोधी जेहादियों पर किसी कार्रवाई की अनिच्छा रखता है, तो यही आतंकवादी संगठन उसके किसी शत्रु से ज्यादा उसे नुकसान पहुंचाएंगे।"


उन्होंने कहा, "वे कश्मीर की आजादी की लड़ाई में भी रत्ती भर मदद नहीं करेंगे।"

काजी ने कहा कि भारत ने पाकिस्तान को दो जनवरी को पठानकोट में भारतीय वायुसेना के एक अड्डे पर हुए हमलों से संबंधित कार्रवाई करने लायक सबूत सौंपे थे। इस हमले में सात सुरक्षाकर्मी मारे गए थे।

भारतीय सुरक्षाबलों ने उन सभी छह हमलावरों को मार गिराया था, जिनके बारे में कहा जा रहा है कि वे पाकिस्तान से आए थे।

काजी ने कहा कि इस्लामाबाद में 15 जनवरी को प्रस्तावित विदेश सचिव स्तरीय वार्ता शुरू हो, इससे पहले पाकिस्तान से भारत आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई चाहता है।

उन्होंने कहा, "पाकिस्तान का यह अंतर्राष्ट्रीय कानूनी दायित्व बनता है कि वह भारत द्वारा सौंपे गए सबूतों पर कार्रवाई कर यह सुनिश्चित करे कि हमले में पाकिस्तानी तत्व शामिल थे या नहीं।"

काजी के मुताबिक, अमेरिका भारत की इस बात से सहमत है कि पाकिस्तान भारत द्वारा मुहैया कराए गए सबूतों को गंभीरता पूर्वक ले। (आईएएनएस)|

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top