Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

'पाकिस्तानी परमाणु हथियारों के गलत हाथ में पड़ने का खतरा'

  |  2016-01-24 14:03:54.0

अरुण कुमार  


pakistanवाशिंगटन, 24 जनवरी| अमेरिका में कांग्रेस से संबंधित रिसर्च सर्विस (सीएसआर) की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार या इसकी प्रौद्योगिकी गलत हाथों में जा सकती है। यह खतरा पाकिस्तान में लगातार जारी अस्थिरता की वजह से पैदा हुआ है। माना जाता है कि पाकिस्तान के ये परमाणु हथियार भारत को लक्ष्य कर बनाए गए हैं। अमेरिकी और पाकिस्तानी अधिकारी इस बात में विश्वास जताते रहे हैं कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार जरूरी सुरक्षा तंत्र के नियंत्रण में हैं। लेकिन, सीआरएस की रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान में जारी अस्थिरता इस सुरक्षा तंत्र में सेंध लगा सकती है।


अमेरिकी सांसदों के लिए बनाई गई सीएसआर की रिपोर्ट में कहा गया है कि 2004 में कुख्यात पाकिस्तानी वैज्ञानिक ए.क्यू.खान के नेटवर्क द्वारा परमाणु तकनीक और सामग्री से जुड़ी गड़बड़ियों के सामने आने बाद पाकिस्तान ने परमाणु सुरक्षा और इसकी प्रौद्योगिकी का प्रसार रोकने की दिशा में कई कदम उठाए हैं। लेकिन, पाकिस्तान में अस्थिरता इन सुधारों के बने रहने पर सवालिया निशान लगा रही है।


रिपोर्ट में कहा गया है, "कुछ पर्यवेक्षकों को डर है कि पाकिस्तानी सरकार पर चरमपंथी काबिज हो सकते हैं या पाकिस्तान के परमाणु तंत्र का ही कोई सदस्य परमाणु सामग्री या प्रौद्योगिकी को किसी और के हवाले कर सकता है।"


रिपोर्ट में कहा गया है, "भारत और पाकिस्तान द्वारा परमाणु हथियारों का विकास करते रहने से दोनों देशों के बीच की रणनीतिक स्थिरता जोखिम में पड़ सकती है।" सीआरएस ने कहा है कि पाकिस्तान के पास संभवत: 110-130 तक परमाणु हथियार हैं, लेकिन ये इससे अधिक भी हो सकते हैं।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top