Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अब नई रणनीति का तानाबाना बना रही है अमित शाह एंड कंपनी

  |  2015-10-19 17:01:07.0

गिरीश चन्द्र तिवारी

Amit-Shahपटना, 18 अक्टूबर. बिहार विधानसभा चुनावों में शुरुआती दो चरणों के मतदान को महागठबंधन के पक्ष में जाते देखकर भारतीय जनता पार्टी के खेमे में काफी बेचैनी का माहौल है. भाजपा नेताओं में आ रही नकारात्मकता को देखते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह नई रणनीति बना रहे है. जानकारों के मुताबिक पार्टी के शीर्ष रणनीतिकारों का मानना है कि बीफ विवाद को लेकर भाजपा के नेताओं की तल्ख़जुबानी ने बिहार चुनाव में फायदे के बजाय नुकसान पहुंचाना शुरू किया है और आरक्षण को लेकर भी उसके खिलाफ माहौल तैयार हुआ है. यही वजह है कि शुरुआती दो चरणों के मतदान के बाद मिले संकेतों ने महागठबंधन को ज्यादा हमलावर बना दिया है.


भाजपा अध्यतक्ष अमित शाह भाजपा के पटना कार्यालय पहुंच रहे हैं. नई रणनीति के तहत ही राष्ट्री य स्वायंसेवक संघ (आरएसएस) ने आरक्षण के प्रति अपना स्पजष्टीरकरण दिया है. आरक्षण पर दिए बयान के बाद पहली बार संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर संघ की ओर से स्पष्टीकरण दिया गया है. अब आरएसएस आरक्षण के पक्ष में खुल कर सामने आ गई है.


आरएसएस की ओर से क्षेत्र कार्यवाहक डॉ. मोहन सिंह ने पत्र जारी कर कहा कि संविधान की तरफ से प्रदत्त आरक्षण व्यवस्था के लिए संघ कटिबद्ध है. संघ का मानना है कि आरक्षण की सुविधा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अत्यंत पिछड़ा और अन्य पिछड़े वर्गों को योग्य रूप से मिले जिससे कि संविधान निर्माताओं के उद्देश्य सफल हो पाएं. संघ ने आरक्षण जैसे गंभीर विषय पर राजनीति न करने की बात कही है.


आज पूरी रात भाजपा के पटना कार्यालय में नई रणनीति को लेकर गहन मंथन होगा. अमित शाह की अध्याक्षता में भाजपा के बिहार प्रभारी अनंत कुमार, चुनाव प्रभारी भूपेंद्र यादव, सह चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान, शाहनवाज हुसैन, राधा मोहन सिंह जैसे कई दिग्गअज नेता इसमें हिस्सार लेंगे.


अमित शाह ने सुशील मोदी को भी कड़ी फटकार लगाई है. बीफ के मुद्दे पर सुशील मोदी ने भी कई बयान दिए हैं. इसी सिलसिले में आज अमित शाह ने दिल्लीा में नेताओं से बैठक कर ऐसे बयान देने वाले नेताओं की जमकर क्लासस लगाई और भविष्यि में ऐसे बयान देने से बचने की सलाह दी.


मोदी की नाराजगी झेलने वाले चार अन्य नेताओं में केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा, संजीव बालियान, सांसद साक्षी महाराज और उत्तर प्रदेश के विधायक संगीत सोम शामिल हैं. शाह ने पांचों नेताओं से कहा कि उन्होंने पिछले माह उत्तर प्रदेश में गोमांस खाने की अफवाह के बाद एक व्यक्ति की पीट-पीट कर हत्या के संदर्भ में जिस तरह के बयान दिए हैं, उससे नरेन्द्र मोदी उनसे काफी नाराज हैं. शाह बिहार चुनाव से कमज़ोर होती पकड़ को फिर से मज़बूत करने की कोशिश करेंगे.

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top