Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बिहार चुनाव : कई दिग्गज हारे

  |  2015-11-08 19:07:06.0

bihar electionपटना, 8 नवंबर : बिहार विधानसभा चुनाव में सत्ताधारी महागठबंधन की चली आंधी में कई दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा. पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी, भाजपा के रामेश्वर चौरसिया एवं रेणु देवी, रामविलास पासवान के भाई पशुपति कुमार पारस और लवली आनंद को हार का स्वाद चखना पड़ा. मतगणना के परिणाम और रुझान से स्पष्ट है कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) बिहार में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है जबकि महागठबंधन में शामिल जद (यू) को दूसरे नंबर से संतोष करना पड़ेगा.


बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी को जहां अपनी पुरानी सीट मखदुमपुर में हार का सामना करना पड़ा वहीं इमामगंज से जद (यू) के वरिष्ठ नेता और विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी को भी हार का स्वाद चखना पड़ा. भाजपा उपाध्यक्ष रेणु देवी को हार का मुंह देखना पड़ा वहीं नोखा से भाजपा के दिग्गज रामेश्वर चौरसिया भी हार गए हैं. इसके अलावा भाजपा के पूर्व अध्यक्ष गोपाल नारायण सिंह को भी नवीनगर सीट से पराजय झेलनी पड़ी.


राजग में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष रामविलास पासवान के भाई पशुपति कुमार पारस जहां अलौली से चुनाव हार गए हैं वहीं हम के टिकट पर शिवहर से चुनाव मैदान में उतरी पूर्व सांसद आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद को भी हार का सामना करना पड़ा. तरारी से पूर्व विधायक सुनील पांडेय की पत्नी गीता पांडेय को हार का सामना करना पड़ा. लोजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे पूर्व सांसद महबूब अली कैसर के पुत्र युसुफ खान को सिमरी बख्तियारपुर से हार का सामना करना पड़ा जबकि हम के टिकट पर मैदान में उतरे पूर्व मंत्री शकुनी चौधरी के पुत्र राजेश कुमार को खगड़िया में पराजय झेलनी पड़ी है.


यह चुनाव मजलिस-ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के लिए भी सुखद साबित नहीं हुआ. इस चुनाव में पहली बार बिहार के सीमांचल में अपनी पैठ बनाने की कोशिश करने वाली एमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष अख्तरूल ईमान को कोचाधामन से हार का सामना करना पड़ा. एमआईएम का बिहार में खाता भी नहीं खुल सका. (आईएएनएस)

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top