Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

VIDEO : बीजेपी के अच्छे काम को अच्छा कहूँगा, गलत कामों की आलोचना करूंगाः मुलायम

  |  2015-10-12 14:16:39.0

https://www.youtube.com/watch?v=xkYkyznpvXE&feature=youtu.be

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

mulaymलखनऊ,12 अक्टूबर. समाजवादी आन्दोलन के महानायक डॉ. राममनोहर लोहिया की 49वीं पुण्यतिथि पर आज राजधानी लखनऊ सहित सभी जिला मुख्यालयों पर समाजवादी पार्टी की ओर से श्रद्धांजलि सभाओं का आयोजन हुआ। लखनऊ में लोहिया ट्रस्ट विक्रमादित्य मार्ग, लोहिया पार्क, गोमतीनगर, लोहिया पार्क चौक तथा लोहिया अस्पताल गोमतीनगर स्थित डॉ. राममनोहर लोहिया की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण कर समाजवादी पार्टी के नेताओं तथा कार्यकर्ताओं ने उनके विचारों और सिद्धांतों पर चलने का संकल्प लिया।


लोहिया ट्रस्ट और लोहिया पार्क स्थित डॉ. लोहिया की प्रतिमाओं पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव तथा वरिष्ठमंत्री शिवपाल सिंह यादव ने भी माल्यार्पण किया। विशेष बात यह रही कि राज्यपाल रामनाईक ने भी लोहिया पार्क पहुंचकर डॉ. लोहिया को श्रद्धा सुमन अर्पित किये.


उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, प्रदेश के स्वास्थ मंत्री, अहमद हसन, पूर्व सांसद भगवती सिंह सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं ने लखनऊ के गोमती नगर स्थित लोहिया पार्क जाकर डाॅ. राम मनोहर लोहिया की पुण्य तिथि के अवसर पर माल्यार्पण कर अपनी आदरांजलि अर्पित की।


इस अवसर पर राज्यपाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि महान समाजवादी चिन्तक डाॅ. राम मनोहर लोहिया की पुण्य तिथि के अवसर पर अपना सम्मान प्रकट करने के लिए वे लोहिया पार्क आये हैं. यह संयोग की बात है कि मुलायम सिंह यादव के साथ ऐसे महान नेता के चरणों में श्रद्धा सुमन अर्पित करने का अवसर मिला. डाॅ. लोहिया समग्र व्यक्तित्व के स्वामी थे. उन्होंने आजादी की लड़ाई को आगे ले जाने का काम किया. डाॅ. लोहिया केवल राजनेता ही नहीं बल्कि मौलिक चिन्तन करने वाले दार्शनिक थे. उनकी पुण्य तिथि पर सारा देश उनके प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त कर रहा है. डाॅ. लोहिया ने विपक्ष में एकता लाने का काम किया तथा वे जनतंत्र में राजनैतिक छुआ-छूत के विरोधी थे. उन्होंने कहा कि डाॅ. लोहिया चिन्तन के अग्रदूत थे.


gov-mulayamश्री नाईक ने कहा कि डाॅ. राम मनोहर लोहिया जैसा शायद ही कोई नेता हो जिसे भारतीय एवं विदेशी भाषाओं पर अधिकार हो. वे भारतीय भाषाओं के पक्षधर थे. अंग्रेजों ने भारत को परतंत्र बनाया था इसलिए उन्होंने इंग्लैण्ड न जाकर जर्मनी में शिक्षा ग्रहण की. उनका मानना था कि छुआ-छूत की राजनीति, भ्रष्टाचार आदि को दूर करने की जिम्मेदारी हम सब की है. लोहिया जी के मन में जो देश के भविष्य को लेकर विचार थे उन्हें आगे बढ़ाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि डाॅ. लोहिया के विचारों के आधार पर मिलकर काम करें.


समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि डाॅ. लोहिया गांव, गरीब और इतिहास से जुड़े थे. भाषा, देशभक्ति, देश की सीमा, महंगाई और भ्रष्टाचार के मसले पर डाॅ. लोहिया एवं पं. दीन दयाल उपाध्याय का एकमत था. डाॅ. लोहिया का मत था कि विदेशी भाषा का ज्ञान अवश्य हो लेकिन सरकारी कामकाज भारतीय भाषा में होना चाहिए. उन्होंने कहा कि डाॅ. लोहिया के विचारों को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचाने की आवश्यकता है.


सपा सुप्रीमो ने कहा कि लोहिया गरीबों के हितैषी थे उन्होंने लोकतंत्र के लिए बड़ी कुर्बानी दी. उन्होंने कहा कि भाजपा के अच्छे काम को अच्छा कहूँगा, गलत कामों की आलोचना करूंगा. समाजवादी विचार घारा से ही देश का विकास संभव हैं.


सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने डॉक्टर राम मनोहर लोहिया को याद करते हुए कहा कि लोहियां ने लोकतंत्र के लिए बड़ी कुर्बानी दी, वे गरीबों के सच्चे हितैषी थे. उन्होंने कहा कि मैं बीजेपी के अच्छे कामों को अच्छा कहूंगा वही गलत कामों की आलोचना भी करूंगा. उन्होंने कहा कि समाजवादी विचार धारा से ही देश का विकास संभव है. समाजवादी लोक भारतीय भाषा का विकास चाहते हैं. विदेशी भाषाएं पढ़े लेकिन अपनी भाषा को न भूलें. उन्होंने कहा कि बड़े दिल वाले ही बड़े बनते है तंग दिल वाले नही, लोहिया बड़े दिल के नेता थे. उन्होंने अखिलेश सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि यूपी जैसा विकास कहीं नहीं हो रहा.


श्री यादव ने कहा कि साम्प्रदायिक सौहार्द्र और एकता भारत की विचारधारा है. देश में सभी सम्प्रदायों को एक-दूसरे की रक्षा करनी चाहिए. उन्होंने दादरी में हिन्दू भाईयों द्वारा मुस्लिम बेटी की शादी में सहयोग की सराहना की. उन्होंने कहा कि देश के विकास के लिए आज इसी रिश्ते की जरूरत है. राज्यपाल राम नाईक एवं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने डाॅ. लोहिया के राजनैतिक जीवन और आपातकाल में उनके साथ बिताये हुए समय एवं अनुभव भी साझा किये.


akh-lohiyaदादरी के बिसाहड़ा गाँव में मुस्लिम लड़की के निकाह में हिन्दू परिवारों की शिरकत का उल्लेख करते हुये श्री यादव ने डॉ. लोहिया के इस कथन का उल्लेख किया कि जहाँ मुस्लिम कम और हिन्दू ज्यादा हों वहां हिन्दुओं का दायित्व है कि वे जान पर खेलकर भी मुसलमानों की रक्षा करें और जहाँ हिन्दू कम और मुस्लिम ज्यादा हो वहां मुसलमानों को हिन्दुओं की रक्षा करनी चाहिए। उन्होंने कहा समाजवादी पार्टी सामाजिक सद्भाव के रिश्तों को बढ़ाती है।


डॉक्टर राम मनोहर लोहिया की 49वीं पुन्यतिथि पर लोहिया ट्रस्ट में हुए कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, और कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव ने लोहिया की मूर्ति पर माल्यार्पण किया. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लोहिया की मूर्ति पर माल्यार्पण कर बिहार के लिए रवाना हो गये. वहां उनको जनसभा को संबोधित करना है. कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव ने भी लोहिया को श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद याद किया. लोहिया को श्रद्धासुमन अर्पित करने वालों में स्वास्थमंत्री अहमद हसन, मंत्री रामगोविन्द चौधरी , अरविन्द सिंह गोप एमएलसी डॉ. मधु गुप्ता, पूर्व मंत्री शतरूद्र प्रकाश, अरूण सिंह, जयप्रकाश अंचल तथा नवाब खां, राजकिशोर मिश्रा, मुकेश शुक्ला, जगदीप यादव, मो. शाहिद, विजय यादव, ताराचन्द यादव, मो. हनीफ, फिदा हुसैन अंसारी, जगन्नाथ यादव, रामसागर यादव, फाकिर सिद्दीकी, सहाफत हुसैन, अंजना गुप्ता, रंजना राय, इकबाल कादरी, सुभाष यादव, शाहीन फातिमा, आशीष सिंह, सुमन यादव, धनंजय शर्मा, डीएन यादव, अशोक देव, बनवारी कंछल, देवेन्द्र सिंह, चंन्द्रिका पाल, हसीन जमाल, दानिश सिद्दीकी, संजय पाण्डेय, रमेश जायसवाल, संजीव मिश्रा, वंदना चतुर्वेदी, आदि लोग भी शामिल थे.

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top