Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

भारत-तंजानिया आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन से मिलकर लड़ेंगे

 Girish Tiwari |  2016-07-10 11:11:42.0

modi-tanzania-s_650_071016022000

दारेस्सलाम, 10 जुलाई. भारत और तंजानिया ने रविवार को आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन के दोहरे खतरे के मुकाबले के लिए मिलकर काम करने पर सहमति जताई। इन मुद्दों पर दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय विचार-विमर्श के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तंजानिया के राष्ट्रपति जॉन मागुफुली के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, "हिंद महासागर के पार पड़ोसी होने के नाते तंजानिया के राष्ट्रपति मागुफुली और मैं इस बात पर सहमत हैं कि विशेषकर समुद्री क्षेत्र में अपनी रक्षा एवं सुरक्षा साझेदारी को और गहरा करें।"

मोदी ने कहा, "हम आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन के दोहरे खतरे का मुकाबला करने के लिए मिलकर, द्विपक्षीय, क्षेत्रीय एवं वैश्विक स्तर पर काम करने के लिए सहमत हैं।"


प्रधानमंत्री मोदी ने भारत द्वारा शुरू किए गए अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन में एक महत्वपूर्ण साझेदार के रूप में तंजानिया का स्वागत किया।

मोदी ने कहा कि भारत पहले से ही तंजानिया का मजबूत आर्थिक साझेदार है। उन्होंने कहा कि हमारे आर्थिक संबंधों के सभी क्षेत्र गुणकारी एवं ऊध्र्वमुखी हैं।

दारेस्सलाम में एक जलापूर्ति परियोजना को सफलतापूर्वक पूरा करने बाद मोदी ने कहा कि भारत जांजीबार और 17 अन्य शहरों में ऐसी परियोजनाएं चला रहा है।

इससे पहले मोदी का रविवार को यहां रस्मी स्वागत किया गया।

मोदी ने मागुफुली के साथ समारोह में स्थानीयता का पुट देते हुए ड्रम भी बजाया।

मोदी यहां अफ्रीका के चार देशों के दौरे के तीसरे पड़ाव के तहत शनिवार रात दक्षिण अफ्रीका से यहां पहुंचे।

पांच साल में भारत के प्रधानमंत्री की तंजानिया की यह पहली यात्रा है। वर्ष 2011 में भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह यहां आए थे।

मोदी अफ्रीका की अपनी यात्रा के आखिरी पड़ाव में केन्या के लिए रवाना होंगे।  (आईएएनएस)|

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top