Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

भारत में अच्छे कोचों की कमी : राजेश

 Sabahat Vijeta |  2016-02-25 15:14:49.0

Rajesh-Narwalअभिषेक उपाध्याय


नई दिल्ली, 25 फरवरी। भारत में जमीनी स्तर पर कबड्डी से जुड़ी बुनियादी सुविधाओं और अच्छे कोचों की कमी है। यह कहना है प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) की टीम जयपुर पिंक पैन्थर्स के खिलाड़ी राजेश नरवाल का।


राजेश का मानना है कि पीकेएल के आने से कबड्डी की लोकप्रियता में इजाफा हुआ है और युवा इसमें पहले से ज्यादा रुचि ले रहे हैं। पीकेएल का तीसरा संस्करण अभी जारी है जिसके कुछ मैच 25 फरवरी से 27 फरवरी तक दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में खेले जाएंगे।


मैच से पहले गुरुवार को पीकेएल से संबंधित कार्यक्रम में हिस्सा लेने आए राजेश ने कार्यक्रम से इतर आईएएनएस से बातचीत में जमीनी स्तर पर खेल की सुविधाओं के सवाल पर कहा, "बेशक जमीनी स्तर पर सुविधाओं की कमी है। पीकेएल में अच्छी सुविधाएं और अच्छे कोच हैं लेकिन जमीनी स्तर पर अच्छे कोचों की कमी है। अच्छे कोच न मिलने के कारण युवा खिलाड़ी पीछे रह जाते हैं।"


पीकेएल के पहले सत्र की विजेता जयपुर का तीसरे संस्करण में अभी तक प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है। वह 25 अंकों के साथ अंकतालिका में छठवें स्थान पर है। टीम के प्रदर्शन पर पूछे गए सवाल पर राजेश का कहना था कि टीम के मुख्य खिलाड़ियों के चोटिल होने को कारण टीम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रही है।


उन्होंने कहा, "हम पहले सत्र में विजेता बने थे। दूसरे सत्र में हम अपनी ही कमी के कारण सेमीफाइनल में पहुंचते-पहुंचते रह गए थे। इस सत्र में टीम के मुख्य खिलाड़ी चोट से जूझ रहे हैं। इसका असर टीम के प्रदर्शन पर पड़ा है।"


जयपुर के दो खिलाड़ी नवनीत गौतम और जसवीर सिंह चोट के कारण टीम से बाहर हैं। राजेश के जब पूछा गया कि क्या पीकेएल के बाद देश में खेल के प्रति बदलाव आया है और क्या खेल को फायदा हुआ है तो उनका जवाब था, "पीकेएल के आने से युवाओं को काफी फायदा हुआ है। युवाओं को कुछ करके दिखाने का मौका मिला है। इससे पहले कबड्डी ज्यादा लोकप्रिय नहीं थी। पहले राष्ट्रीय स्तर तक ही कबड्डी होती थी। पीकेएल से काफी फायदा हुआ है।"

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top