Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मदरसों में तिरंगा फहराने को लेकर सियासत गरम

  |  2016-01-10 11:47:32.0

 download (12)


लखनऊ/सहारनपुर, 10 जनवरी. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के सम वैचारिक संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने देशभर के मदरसों को गणतंत्र दिवस व स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराने की नसीहत दी है। इसके लिए उसने दारुल उलूम देवबंद और नदवा को पत्र लिखकर मदरसों में तिरंगा फहराने का अनुरोध किया है। इसका विरोध करते हुए देवबंद ने पूछा है कि क्या आरएसएस नागपुर मुख्यालय पर तिरंगा फहराएगा। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के उप्र के समन्वयक मोरध्वज सिंह के मुताबिक, तिरंगा फहराने का अभियान पूरे देश में चलाया जाएगा। देवबंद और नदवा को पत्र लिखकर इस अभियान में शामिल होने की गुजारिश की गई है।

उन्होंने बताया कि इन दोनों संस्थाओं को मुस्लिम समुदाय में गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता दिवस और गांधी जयंती को लेकर जागरूकता फैलाने को भी कहा गया है।


देवबंद के प्रेस सचिव मौलाना अशरफ उस्मानी ने इस पर एतराज जताते हुए पूछा है, "क्या आरएसएस नागपुर में अपने मुख्यालय और कार्यालय पर तिरंगा फहराएगा? क्या आरएसएस राष्ट्रगान में यकीन रखता है।"

उस्मानी ने कहा, "आरएसएस को यह हक नहीं है कि वह मदरसों को इस तरह की नसीहत दे या आदेश करे। मदरसे खुद तय करें कि राष्ट्रीय पर्व पर तिरंगा फहराना चाहते हैं या नहीं।"

उन्होंने कहा कि देवबंद की सामाजिक सभा 'जमीयत उलेमा-ए-हिंद' से जुड़े कई मदरसे न सिर्फ तिरंगा फहराते हैं, बल्कि 15 अगस्त और 26 जनवरी को छुट्टी भी रखते हैं।

उस्मानी ने कहा, "जंग-ए-आजादी में देश के मदरसों की अहम भूमिका रही है। उन पर किसी तरह का दबाव बनाना गलत है। आरएसएस का जंग-ए-आजादी से क्या लेना-देना है। ये तो सिर्फ एक ही रंग के झंडे को मानता है और वंदना करता है।" (आईएएनएस)|

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top