Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मुंबई हमला: इस्लामाबाद HC ने नहीं दी मास्टरमाइंड के वॉइस सैंपल लेने की इजाजत

  |  2016-01-27 08:33:20.0

a1
इस्‍लामाबाद.
मुंबई हमले में इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने पाकिस्तान सरकार की दो याचिकाओं को खारिज कर दिया है। इनमें संदिग्ध मास्टरमाइंड के आवाज के नमूने लेने और अजमल कसाब और फहीम अंसारी को भगोड़ा घोषित करने की अपील की गई थी।


हाईकोर्ट के जस्टिस नूरुल हक और अथर मिनाअल्ला की बेंच ने फेडरल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (एफआईएस) द्वारा दी गई याचिकाओं को खारिज किया। इनमें से एक याचिका में हमले के संदिग्ध मास्टरमाइंड और छह अन्य लोगों के आवाज के नमूने लेने की मांग की थी, ताकि वह भारत द्वारा दिए नमूनों से इनका मिलान कर सके। इससे पहले सितंबर 2012 में भी इसी कोर्ट ने इन्हीं आधारों पर दोनों याचिकाओं को खारिज किया था।


गौरतलब है कि एक बार याचिका खारिज होने के बाद एफआईए ने मामले में रिवाइवल के लिए दोबारा अर्जी दाखि‍ल की थी। अभि‍योजन पक्ष ने बताया कि मई 2010 में एंटी टेररिस्ट कोर्ट (एटीसी) ने संदिग्धों के आवाज के नमूनों की याचिका को खारिज कर दिया था। याचिका में कोर्ट को बताया गया था कि मुंबई हमले की जांच के लिए ये नमूने काफी थे।


पठानकोट हमले के नमूने भी नकार चुका है पाक
इससे पहले भारत द्वारा सबूत के तौर पर दिए गए पठानकोट हमले के आवाज के नमूनों को भी पाकिस्तान नकार चुका है। उसने कहा है कि ये सबूत जांच के लिए काफी नहीं हैं। बता दें कि मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर जकीउर-रहमान लखवी समेत सात लोगों को पाकिस्तान में गिरफ्तार किया गया था। एटीएस 2009 से इन पर मुकदमा चला रही है।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top