Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मुख्‍यमंत्री की नाराजगी भारी पड़ी सिंघल को, प्रवीर बने एपीसी  

  |  2015-10-14 19:58:18.0

qwer



तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो

लखनऊ 15 अक्‍टूबर. मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव की नारजगी दीपक सिंघल को भारी पडी और सूबे की नौकरशाही मुख्‍य सचिव के बाद दूसरे नंबर की सबसे अहम कुर्सी उनके ही बैच मेट प्रवीर कुमार को मिल गई। प्रवीर को उत्‍तर प्रदेश का नया कृषि उत्‍पादन आयुक्‍त (एपीसी) बनाया गया है। यह पद पिछले 14 दिनों से खाली चल रहा था। पिछले कृषि उत्‍पादन आयुक्‍त आनन्‍द मित्रा 30 सितंबर को सेवा निवृत्‍त हो गये थे और तब से लगातार इस कुर्सी को लेकर रसाकशी चल रही थी।

उच्‍च पदस्‍त सूत्रों के मुताबिक, इस पद पर सपा के शीर्ष नेता और सरकार के सबसे कद्दावर मंत्री की पहली पसंद दीपक सिंघल थे, जबकि मुख्‍यमंत्री उनके नाम पर कतई तैयार नहीं थे। मुलायम सिंह यादव के मुख्‍यमंि‍त्रत्‍व काल में दीपक सिंघल महत्‍वपूर्ण पदों पर तैनात रहें हैं और अखिलेश यादव की सरकार बनने पर प्रमुख सचिव सिचाई जैसी अहम जिम्‍मेदारी निभा रहें हैं। उन्‍हें लोक निर्माण एवं सिचाई मंत्री शिवपाल सिंह  यादव के विशसनीय अफस्‍रों में गिना जाता है। इसके उल्‍टे मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव कई मौकों पर उनसे अपनी नराजगी सार्वजनिक रूप से व्‍यक्‍त कर चुके हैं। अभी पिछले महीने ही अपने आवास पर आयोजित सिचाई विभाग के एक महत्‍वपूर्ण्‍ कार्यक्रम में शिवपाल सिंह यादव और मीडिया की मौजूदगी में ही उन्‍होंने श्री सिंघल को आड़े हाथों लिया था।


दीपक सिंघल और प्रवीर कुमार 1982 बैच के आईएएस अधिकारी हैं और फिलहाल कई महीनों से मुख्‍य सचिव के वेतनमान में काम कर रहें हैं। सूबे में जब अखिलेश यादव की सरकार बनी और आजम खां के साथ प्रमुख सचिव के तौर पर काम करने के लिये कोई उपयुक्‍त अधिकारी नहीं सुलभ हुआ तो मंत्री की पसंद से उन्‍हें केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से बुलाकर इस पद पर बैठाया गया था। थोड़े ही दिनों में रिश्‍ते इतने खराब हो गये की मंत्री आजम खां को प्रवीर कुमार के बारे में पत्र लिखकर कहना पड़ा कि यह अधिकारी मुसलिमों का विरोधी है। इसके बाद प्रवीर कुमार को आजम खां के अन्‍दरखाने के विरोधी समझे जाने वाले स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री अहमद हसन के साथ प्रमुख सचिव बनाया गया था।  इसके बाद प्रवीर कुमार फिर से केन्‍द्र सरकार की सेवा में चले गये और अभी कुछ दिन पहले एकदम से फिर प्रदेश सरकार की सेवा में आ गये।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top