Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी: पनियारा हत्‍याकांड के अपराधी फरार, जेलकर्मियों ने की मदद

  |  2016-01-08 08:02:47.0

a1तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
उरई, 8 जनवरी. उरई के जिला कारागार से गुरुवार की देर चार चार खतरनाक अपराधी फरार हो गए। फरार अपराधियों ने पहले बैरक की सरिया काटीं और फिर जेल की दो दीवार फांद कर भाग निकले। भागने वालों में उरई के चर्चित पनियारा हत्याकांड के दो अभियुक्त भी शामिल हैं।


चारों खतरनाक अपराधी बैरक नम्बर तीन में बंद थे। कई दिनों से ये अपने बैरक की सरिया धीरे-धीरे काट रहे थे। इसकी भनक दूसरे बंदियों और कुछ जेल कर्मियों को भी थी। गुरुवार की रात कटी सरिया मोड़ कर चारों बाहर निकले। इनके बैरक के पास एक बिजली का पोल है जिसको सपोर्ट देने वाला तार उस दीवार के बाहर लगा है। चारों बिजली के पोल पर चढ़कर उसी तार के सहारे जेल की पहली दीवार फांद गए। बाहरी और अंतिम दीवार फांदने के लिए रात में ओढ़ने के लिए दिए गए चादरों का इस्तेमाल किया। चादर जोड़कर उनको रस्सी की तरह बनाया और एक हिस्सा बाहर फेंक दिया। माना जा रहा है बाहर उनके और साथी थे जिन्होंने चादर पकड़ी। फिर एक-एक कर चारों चादर के सहारे दीवार चढ़ कर दूसरी तरफ उतर कर फरार हो गए।


सुबह पता चला मामला
सुबह बंदियों की गिनती शुरू हुई तो पता चला एक ही बैरक में बंद चारों अपराधी गायब हैं। छानबीन में बैरक की सरिया कटी पायी गयीं और बाहरी दीवार के पास चादर मिले। पूछताछ में और बंदियों ने बताया कि वे कई दिनों से बैरक की सरिया काट रहे थे और इसकी जानकारी जेलकर्मियों को भी थी।


पनियारा हत्‍याकांड के आरोपी फरार
भागने वालों में जसवंत लूटपाट के मामले में बंद था जबकि मुनाना उर्फ सुरेश को एक मामले में सजा मिली थी और कई अन्य मामले चल रहे थे। पनियारा हत्याकांड के कुख्यात कल्लू धोबी और ध्यान सिंह भी इनके साथ भागे हैं। काफी दिनों बाद पुलिस इस हत्याकांड का खुलासा कर पायी थी। छानबीन के दौरान पुलिस ने जेल के बाहर घूम रहे एक बंदी कल्लू धोबी के पिता को हिरासत में लिया है। जिले के सारे उच्च अधिकारी सुबह ही जेल पहुंचे और जांच-पड़ताल की, फिलहाल फरार अपराधियों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top