Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

राजधानी में IAS के घर डकैती, पत्‍नी को घंटों बनाए रखा बंधक

  |  2016-01-05 09:41:30.0

a1तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
लखनऊ, 5 जनवरी. राजधानी में आईएएस के घर डाका डालने से एक बार फिर पुलिस-प्रशासन के कान खड़े हो गए हैं। गोमतीनगर की पॉश कॉलोनी एल्डिको ग्रीन में सोमवार की देर रात बदमाशों ने आईएएस हृदयशंकर तिवारी और उनकी पत्नी को बंधक बनाकर डाका डाला। असलहे से लैस छह डकैत गेट फांदकर बंगले में दाखिल हुए। इसके बाद पोर्च में बने सर्वेंट क्वार्टर का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया और ड्राइंग रूम का दरवाजा तोड़कर अंदर पहुंचे।


डकैतों ने बेडरूम में सो रहे हृदयशंकर और उनकी पत्नी संगीता पर हमला करके उनके हाथ-पैर बांध दिए। फिर अलमारी व लॉकर में रखी लाखों की नगदी, जेवरात व विदेशी पिस्तौल लूट कर फरार हो गए। भागने से पहले बदमाशों ने हृदयशंकर व संगीता को बॉथरूम में बंद कर दिया था। करीब एक घंटे बाद दंपति ने खुद को बंधन मुक्त किया। फिर नौकर के मोबाइल से पुलिस को फोन करके घटना की सूचना दी।


एसएसपी और डीआईजी मौके पर पहुंचे
आईएएस के घर में डकैती की सूचना से महकमे में हड़कम्प मच गया। डीआईजी डीके चौधरी व एसएसपी राजेश कुमार पांडेय मौके पर पहुंचे। डॉग स्क्वॉयड व फोरेंसिक टीम को जांच के लिए बुलाया गया। पुलिस घटना में पेशेवर अपराधियों का हाथ मान रही है। घटनास्थल के आसपास लगे सीसी कैमरों की फुटेज खंगाली जा रही है।


पुलिस की पांच टीमें गठित
एल्डिको ग्रीन के मकान नंबर 282 निवासी हृदयशंकर तिवारी बापू भवन स्थित को-ऑपरेटिव के विशेष सचिव के पद पर कार्यरत हैं। उनका बेटा देवांश दिल्ली में सिविल सर्विस की तैयारी कर रहा है। वहीं, बेटी सताक्षी पुणे में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही है। हृदयशंकर पत्नी संगीता के साथ बंगले के ग्राउंड फ्लोर में रहते थे। मकान में दो नौकर राजाराम और दरोगा सिंह भी रहते हैं। वारदात के वक्त बदमाशों ने नौकरों के कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया था। एसएसपी राजेश कुमार पांडेय ने बताया कि अभी तक लूटे गए सामान की सूची उपलब्ध नहीं कराई गई है। मामले की जांच के लिए पुलिस की पांच टीमें गठित की गई हैं।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top