Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

संसद में दिए अपने ही बयान में घिरीं स्मृति ईरानी

 Tahlka News |  2016-02-26 06:57:46.0

smriti paनई दिल्ली. रोहित वेमुला काण्ड पर लोकसभा में दिए स्मृति ईरानी के बेहद भावुक भाषण की सोशल मीडिया में खूब तारीफ हो रही है, मगर इस बीच उनके द्वारा संसद में दिए तथ्यों के गलत होने पर सवाल भी उठाए जा रहे हैं.

इस मामले में रोहित को मृत घोषित करने वाले डाक्टर ने मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी के उस दावे को खारिज किया है जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि हैदराबाद युनिवर्सिटी के छात्र रोहित वेमुला की मौत को सुबह तक भी किसी डॉक्टर से नहीं सत्यापित कराया गया था.

ईरानी ने बुधवार को लोकसभा में तेलंगाना पुलिस के हवाले से कहा था, ''किसी ने भी उस बच्चे के करीब एक डॉक्टर को नहीं जाने दिया. इसके बजाय उसकी लाश का इस्तेमाल राजनीतिक हथियार के बतौर किया गया.''


मंत्री के बयान को खारिज करते हुए उस वक्त ड्यूटी पर तैनात मुख्य स्वास्थ अधिकारी एम. राजश्री का बयान आया है, इसमें वे कहते हैं, ''सुरक्षाकर्मियों को एनआरएस हॉस्टल के एक कमरे में लाश मिली. मुझे शाम 7:20 बजे कॉल आया और मैं इसकी जांच के लिए हॉस्टल की तरफ भागा. जब मैं वहां पहुंचा तो लाश को पंखे से उतार लिया गया था. 10 मिनट में हमने उसे मृत घोषित कर दिया. मैंने तुरंत कुलपति को भी इसकी जानकारी दी. उन्होंने मुझे पूछा कि क्या रोहित के बच सकने की कोई संभावना है. मैं 3 बजे सुबह तक वहीं था.''

एक वैबसाइट ने अपनी रिपोर्ट में विश्वविद्यालय की हैल्थ बुक के उस पृष्ठ की तस्वीर भी प्रकाशित की है जिसमें इस सबका ब्योरा लिखा हुआ है और रोहित की मौत की पुष्टि की गई है.

इससे पहले बुधवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने संसद में बेहद तल्ख अंदाज में अपना पक्ष रखा था. ईरानी ने रोहित वेमुला और जेएनयू के मसले पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर भी राजनीति करने के आरोप लगाए. इधर प्रधानमंत्री मोदी ने भी इस मसले पर पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल से लोकसभा में दिए स्मृति ईरानी के भाषण का 'सत्यमेव जयते' लिखकर लिंक शेयर किया.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top