Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सीएम ने कहा- बुआ का डर सबको होना चाहिए,मैं तो आप सबसे हिम्मत पाकर नहीं डर रहा

  |  2015-10-31 17:48:24.0

unnamed


तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो 


लखनऊ, 31 अक्‍टूबर. डॉ राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के द्वितीय दीक्षांत समारोह के अवसर पर अंबेडकर ऑडि‍टोरियम को वापस देने की मांग पर मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने बसपा सुप्रीमो मायावती पर चुटकी ली। अखि‍लेश ने कहा, 'बुआ का डर सबको होना चाहिए। मैं तो आप सबसे हिम्मत पाकर नहीं डर रहा लेकिन बुआ का डर सबको महसूस होना चाहिए।' अखिलेश ने यह नसीहत उस समय दी जब लोहिया लॉ यूनिवर्सिटी के वीसी प्रोफेसर गुरदीप सिंह ने उनसे यूनिवर्स‍िटी के अंबेडकर ऑडिटोरियम को वापस करने की मांग की। बता दें कि यह ऑडिटोरियम बसपा सरकार ने यूनिवर्स‍िटी से वापस ले लिया था।


आज की पीढ़ी ‘टेक सैवी’


सीएम ने कहा कि आज की पीढ़ी ‘टेक सैवी’ है और आज इण्टरनेट का ज़माना है, इसलिए विश्वविद्यालय में सूचना प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल को और बढ़ावा दिया जाएगा। यहां की लाइब्रेरी को विश्वस्तरीय बनाने के लिए हर प्रकार की सहायता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि समाजवादी शिक्षा के प्रसार के लिए लगातार काम करते हैं। यही नहीं, समाजवादी लोग हमेशा समाज को जोड़ने का भी कार्य करते हैं। राज्य सरकार भी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से गरीबों को लाभान्वित कर रही है और उनके दुःख बांट रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है इसलिए यहां की चुनौतियां भी बड़ी हैं। उन्होंने कहा कि यहां का बाजार भी बहुत बड़ा है, जहां पर बहुत कार्य किया जा सकता है। ऐसे में, यहां के विद्यार्थियों को कार्य करने के बहुत सारे अवसर मिलेंगे।


मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि किसी शिक्षण संस्थान को विश्वस्तरीय बनाने में वहां के प्रोफेसरों, शिक्षकों तथा फैकल्टी का हाथ होता है। उन्होंने कहा कि भवन, संस्थान में उपलब्ध अन्य सुविधाएं, पुस्तकालय, जिम इत्यादि भी महत्वपूर्ण हैं। राज्य सरकार डॉ राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय को और ऊँचे स्तर तक ले जाने के लिए हर सम्भव मदद करेगी। उन्होंने कहा कि नेता जी ने इस विश्वविद्यालय की कल्पना की थी और इसे एक वर्ष के अन्दर वास्तविकता में बदल दिया था। आज यह देश के उत्कृष्ट विधि विश्वविद्यालयों में से एक है। इस विश्वविद्यालय ने कानून की पढ़ाई के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश को एक नयी पहचान दी है।


सरकार लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा दे रही


दीक्षांत समारोह के दौरान मेडल वितरण में लड़कियों द्वारा बाज़ी मारने पर उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए सीएम सभी को बधाई दी और कहा कि राज्य सरकार लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने कहा कि निःशुल्क लैपटॉप वितरण के दौरान भी बड़ी संख्या में छात्राओं को लैपटॉप दिए गए हैं। सभी पदक पाने वाले सभी छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए सीएम ने आह्वान किया कि वे मेहनत से अपने चुने हुए क्षेत्र में काम करें और गरीबों को न्याय दिलवाने में मदद करें। राज्य सरकार गरीबों को न्याय दिलवाने के लिए कटिबद्ध है। उत्तर प्रदेश तभी खुशहाल हो सकता है, जब गरीबों को न्याय सुलभ होगा। उन्होंने आशा व्यक्त की कि विद्यार्थियों ने जो ज्ञान यहां अर्जित किया है, उसका सदुपयोग समाज की भलाई के साथ-साथ अपने बेहतर भविष्य के लिए करेंगे।


डॉ. राम मनोहर लोहिया नेशनल लॉ यूनिवर्सटी के वीसी प्रो. गुरदीप सिंह के अनुरोध पर मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया कि सरकार उन पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगी। विश्वविद्यालय स्थित ऑडिटोरियम को पुनः लॉ यूनिवर्सिटी को हस्तगत कराने पर उन्होंने हामी भरते हुए कहा कि इसके रख-रखाव का भी इन्तेज़ाम किया जाएगा, ताकि यह अच्छी स्थिति में बना रहे। उन्होंने कहा कि अभी हाल ही में लखनऊ स्थित अम्बेडकर विश्वविद्यालय द्वारा रमाबाई अम्बेडकर मैदान उपलब्ध कराने के अनुरोध पर तुरन्त निर्णय लिया गया है।


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top