Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बुआ के अपमान पर भतीजा सख्त, FIR दर्ज

 Sabahat Vijeta |  2016-07-20 15:40:23.0

akhilesh gusse menतहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. बसपा सुप्रीमो मायावती पर आपत्तिजनक और बेहद अमर्यादित टिप्पड़ी करने वाले भाजपा नेता दयाशंकर सिंह के खिलाफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर एफआईआर दर्ज हो गई है. दयाशंकर ने मऊ में बसपा सुप्रीमो पर टिकट बेचने का इल्जाम लगाते हुए उनके खिलाफ अमर्यादित टिप्पड़ी की थी.


दयाशंकर सिंह की इस अमर्यादित टिप्पड़ी से भाजपा बैकफुट पर आ गई. संसद के दोनों सदनों में इस मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ. अरुण जेटली ने इस मुद्दे पर व्यक्तिगत स्तर पर खेद जताया. वरिष्ठ बसपा नेता और सांसद सतीश चन्द्र मिश्र ने इस मुद्दे पर दयाशंकर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की घोषणा की. यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस मुद्दे पर खुद आगे बढ़कर दयाशंकर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने का निर्देश दिया. अखिलेश ने कहा कि महिलाओं का सम्मान सर्वोपरि है. किसी को भी इस तरह की अभद्र टिप्पड़ी की छूट नहीं दे जा सकती.


आज दिन में ही मामले के तूल पकड़ने के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केशव मौर्य ने इस घटना का संज्ञान लेते हुए दयाशंकर सिंह को प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष पद से हटा दिया था. बहुजन समाज पार्टी के नेता मेवालाल गौतम ने भी हजरतगंज थाने में दयाशंकर सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. दयाशंकर के खिलाफ धारा  153 ए, 504 और एससी एसटी एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है.


दयाशंकर सिंह के आपत्तिजनक बयान के बाद सियासत में उफान आ गया है. बसपा ने कल भाजपा के खिलाफ लखनऊ में प्रदर्शन का एलान कर दिया है. पूरे प्रदेश से लखनऊ आ रहे बसपा कार्यकर्ता प्रदेश भाजपा मुख्यालय का घेराव कर प्रदर्शन करेंगे. फतेहपुर के पटेल चौक पर आज बसपा कार्यकर्ताओं ने दयाशंकर सिंह का पुतला फूंककर अपना विरोध दर्ज कराया. खुद मायावती ने इस मुद्दे पर राज्यसभा में कहा कि अगर दयाशंकर सिंह के खिलाफ कार्यवाही नहीं की गई तो उनकी पार्टी देश भर में आन्दोलन छेड़ेगी. उन्होंने इस मुद्दे को खुद का नहीं बल्कि पूरे दलित समाज का अपमान करार दिया.


उधर दयाशंकर सिंह को उपाध्यक्ष पद से हटाये जाने के बाद इलाहाबाद में भाजपा कार्यकर्ताओं ने काफी हंगामा किया. इलाहाबाद भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी दिनेश तिवारी ने दयाशंकर सिंह की पैरवी करते हुए कहा कि इसमें उनकी कोई गलती नहीं है. दयाशंकर की वापसी के लिए वह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखेंगे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top