Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कमल के साथ हुई अखिलेश और रामगोपाल की यह बैठक कोई गुल खिलायेगी !

 Sabahat Vijeta |  2016-12-30 15:03:07.0

akhilesh


तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. समाजवादी पार्टी में चल रहे घमासान के बीच आज जिस तरह के डेवलपमेंट हुए हैं उसमें तमाम संभावनाओं पर बात चल रही है. चुनावी ऊंट किस करवट बैठेगा इसकी काफी तेज़ी से तैयारियां चल रही हैं. पूर्व प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर की समाजवादी जनता पार्टी के अध्यक्ष कमल मोरारका की आज अखिलेश यादव और मंत्री राम गोविन्द चौधरी के साथ हुई मीटिंग इसी रणनीति का हिस्सा है.


चन्द्रशेखर की समाजवादी जनता पार्टी (सजपा) के बैनर तले मुलायम सिंह यादव ने भी काम किया था. सजपा छोड़कर ही मुलायम सिंह यादव ने समाजवादी पार्टी का गठन किया था. समाजवादी जनता पार्टी का चुनाव चिन्ह बरगद का पेड़ है. यह चिन्ह पार्टी के वर्तमान अध्यक्ष कमल मोरारका के पास है.


कमल मोरारका पिछले दो दिनों से लखनऊ में थे. आज 11 बजे उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की. दिल्ली में उन्होंने प्रो. रामगोपाल यादव से मुलाकात की थी उसके बाद वह लखनऊ आये थे, कल अखिलेश के ख़ास मंत्री राम गोविंद चौधरी से उनकी 3 घंटे लंच पर बात हुई. राम गोविंद भी सजपा में ही थे मुलायम ने अपने साथ काम करने के लिए उन्हें सपा में चन्द्रशेखर से माँगा था.


सूत्र बताते हैं कि कमल मोरारका ने रामगोपाल यादव, राम गोविंद और अखिलेश के साथ मीटिंग में अपना चुनाव चिन्ह बरगद और पार्टी सजपा से लड़ने का प्रस्ताव दिया है. उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह भी इस पार्टी के बैनर तले चुनाव लड़े हैं वह इसके प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं, जनता और पार्टी के पुराने लोग इस पार्टी को जानते हैं इसके चुनाव चिन्ह को पहचानते हैं. इसलिये अगर ऐसी स्थिति आती है कि सपा के अलावा आपको लड़ना पड़े तो मैं पार्टी और चिन्ह दोनों आपको सौंपने को तैयार हूँ. इस तरह चुनाव आयोग से सिंबल लेने और देने का झंझट भी नहीं रहेगा.


रामगोपाल और अखिलेश के बीच इस मुद्दे पर भी बात चल रही है. बहुत संभव है कि वह इस प्रस्ताव को स्वीकार कर सकते हैं. अखिलेश के ख़ास मंत्री रामगोविंद ने भी अखिलेश को इसके लिए समझाया है. कमल मोरारका के साथ मीटिंग के बाद अखिलेश से मिलकर रामगोविंद ने जानकारी दी थी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top