Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

US प्रेसिडेंट इलेक्शन: आखिरी वक़्त में सामने आया चौंकाने वाले तीसरे कैंडिडेट का नाम

 Anurag Tiwari |  2016-11-06 09:10:29.0

US Presidential Elctions, Donald Trump, Hillary Clinton, Mickey Mouse, Senator, Democratic, Republican

तहलका न्यूज वेब टीम

अभी तक हम आप जानते हैं कि यूएस में हो रहे प्रेसिडेंशियल इलेक्शन में हिलेरी क्लिंटन और दोनाल्दा ट्रम्प ही उम्मीदवार हैं. लेकीन कुया आप जानते हैं कि वोटिंग वाले दिन एक तीसरे कैंडिडेट के खाते में भी वोट पड़ने जा रहा है. इस कैंडिडेट का नाम पढ़कर आप जरूर चौंकेंगे.

यह तीसरा कैंडिडेट कोई इंसान नहीं बल्कि कार्टून करैक्टर मिकी माउस है. जी हां, अमेरिका में लोग अपने पसंद के किसी भी इंसान को वोट दे सकते हैं भले ही वह ऑफिशियली चुनाव मैदान में न उतरा हो.

पिछले चुनावों के वोटिंग पैटर्न को देखा जाए तो अमेरिकियों ने ऑफिसियल कैंडिडेट्स के अलावा सबसे ज्यादा वोट मिकी माउस को ही दिए हैं.

अमरीका के प्रेसिडेंट इलेक्शन की ख़ास बात यह है कि अमेरिका के कुछ हिस्सों में चुनावों में अपने पसंदीदा शख़्स का नाम बैलेट पेपर पर लिखकर वोटिंग की जा सकती है. यही तथ्य अमेरिकी चुनावों को दिलचस्प बनाता है.


अमेरिकी विरोधस्वरूप बड़ी गंभीरता के साथ मिकी माउस को वोट देते आए हैं. कुछ स्कैंडनेवियाई देशों में भी चुनावों में यह व्यवस्था लागू है, जहां लोग विरोधस्वरूप डोनल्ड डक को वोट डालते है.

इस साल रिपब्लिकन पार्टी के तीन सदस्यों ने घोषणा की है कि वे डोनल्ड ट्रंप की जगह रिपब्लिकन पार्टी की ओर से उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार माइक पेंस का नाम बैलेट पेपर पर लिखेंगे.  वहीं डेमोक्रेटिक पार्टी के लोग बर्नी सैंडर्स को वोट डालेंगे.

अमरीका पचास स्टेट्स में से केवल सात स्टेट ऐसे हैं जो इस तरह के वोट को फाइनल काउंटिंग में गिनते हैं. ये स्टेट्स हैं वरमोंट, न्यू हैंपशायर, न्यू जर्सी, अल्बामा, आइओवा, पेनसेल्वेनिया और रोड्स आइलैंड.

वहीं दूसरी तरफ आठ स्टेट्स ऐसे हैं, जो इस तरह के वोटों को पूरी तरह नजरअंदाज कर उनकी गिनती नहीं करते. ये स्टेट्स हैं अरकांसा, हवाई, लुसियाना, नेवादा, न्यू मैक्सिको, ओक्लाहोमा, साउथ कैरोलिना और साउथ डेकोटा.  जबकि मिसिसिपी में ऐसे वोटों को छांट दिया जाता है.

बाकी के राज्य इस तरह के वोटों की इजाज़त तो देते हैं, लेकिन इसके लिए उम्मीदवार को कुछ ख़ास तरह के हलफ़नामे जमा करने पड़ते हैं.

आमतौर पर यह मना जाता है कि इस तरह के वोटों से कोई चुना नहीं जा सकता, लेकिन साल 2010 में अलास्का में रिपब्लिकन पार्टी की उम्मीदवार लीसा मरकोवस्की को इन्हीं वोटों के जरिए सीनेटर चुना गया था थीं. ऐसे में कोई आश्चर्य नहीं कि आने वाले समय में  कभी अमेरिका मिकी माउस को भी अपना प्रेसिडेंट चुन ले.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top