Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

आनंद ने सुभाष चंद्रा के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई

 Sabahat Vijeta |  2016-06-17 15:41:04.0

subhash-chandra


नई दिल्ली. अधिवक्ता आर.के. आनंद ने जी नेटवर्क के मालिक सुभाष चंद्रा के खिलाफ पुलिस में एक शिकायत दर्ज कराई है। चंद्रा ने हाल ही में हरियाणा से भाजपा के समर्थन से राज्यसभा चुनाव में जीत हासिल की है। एक वकील ने कहा कि चंद्रा, भाजपा विधायक असीम गोयल और भाई जयप्रकाश, और निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के कुछ अधिकारियों और अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है।


आनंद के वकील वी.के. अरोड़ा ने कहा, "आनंद ने चंडीगढ़ के पुलिस महानिरीक्षक तेजेंद्र सिंह लूथरा के यहां चंद्रा और अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता तथा जन प्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत धोखाधड़ी, फर्जीवाड़ा, अनाचार और चोरी की शिकायत दर्ज कराई है।"


शिकायत में कहा गया है, "आरोपी सुभाष चंद्रा ने आरोपी असीम गोयल और भाई जयप्रकाश, निर्वाचन कार्यालय के खास अधिकारियों और अन्य अज्ञात लोगों के साथ मिलकर निर्वाचन प्रक्रिया को ध्वस्त करने और फर्जी तरीके से जीत हासिल करने के लिए एक आपराधिक साजिश रची।"


शिकायत में आगे कहा गया है, "उन्होंने निर्वाचन प्रक्रिया ध्वस्त करने और शिकायतकर्ता को गलत तरीके से नुकसान पहुंचाने, तथा आरोपी सुभाष चंद्रा को जीत दिलाने के लिए मतदान क्षेत्र से मूल कलम गोपनीय और अनुचित तरीके से गायब कर दी।"


उल्लेखनीय है कि सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा हरियाणा से कांग्रेस समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार आर.के. आनंद को हराकर राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुए हैं। चंद्रा को 24 मत मिले थे, जबकि आनंद को 15 मत मिले थे।


90 सदस्यीय हरियाणा विधानसभा में कांग्रेस के 14 वोट रद्द कर दिए गए थे, जिसके कारण आनंद चुनाव हार गए। अन्यथा उन्हें जीत की पूरी उम्मीद थी। शिकायतकर्ता ने कहा है कि चंद्रा और अन्य आरोपियों ने विधायकों के स्वतंत्र निर्वाचन अधिकार के साथ हस्तक्षेप किया, लिहाजा उन्होंने आईपीसी की धारा 171-सी के तहत एक अपराध किया है।


शिकायतकर्ता ने कहा है कि आरोपियों ने मूल कलम को बदल दिया और उसके स्थान पर एक नया कलम रख दिया, जिसके कारण मतपत्र के जरिए वोट का महत्व कम हो गया और इस तरह अनाचार को अंजाम दिया गया।


आनंद ने दावा किया है कि चंद्रा ने कथित तौर पर मतदान क्षेत्र में प्रवेश कर चोरी और अविश्वास के अपराध को अंजाम दिया है।


उधर हरियाणा के खाद्य एवं आपूर्ति राज्य मंत्री कर्ण देव कम्बोज ने कहा कि राज्य सभा चुनाव में करारी हार की जिम्मेवारी कांग्रेस और इनेलो एक दूसरे पर थोप रही हैं। इस चुनाव को लेकर इनेलो और कांग्रेस नौटंकी कर रही है।


राज्यमंत्री कर्ण देव कम्बोज ने यह बात आज कुरूक्षेत्र में पत्रकार एवं समाज सेवी स्वर्गीय देवी दयाल नन्हां की 19वीं पुण्यतिथि पर श्री देवी दयाल नन्हा मैमोरियल फांउडेशन की तरफ से राजेन्द्र कालोनी नगली कुटिया में आयोजित मेडिकल कैम्प और रक्तदान शिविर का उदघाटन अवसर पर कही।


उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव में भाजपा समर्पित प्रत्याशी सुभाष चंद्रा को ऐतिहासिक जीत हासिल हुई है। इन चुनावों में हार की जिम्मेवारी कांग्रेस व इनेलो एक दूसरे पर थोपने का कार्य कर रही हैं। राज्यसभा के प्रत्याशी आर.के. आंनद को इनेलो का समर्थन हासिल था, कांग्रेस ने भी प्रत्याशी आर.के. आनंद का साथ देने का काम किया। चुनाव में 14 वोट रद्द हुए और कांग्रेस और इनेलो के प्रत्याशी को हार मिली। कांग्रेस नहीं चाहती थी कि इनेलो का प्रत्याशी राज्यसभा सदस्य बने और इनेलो की जीत हो। उन्होंने कहा कि राज्यसभा चुनाव में हार का मुंह देखने पर दोनों पार्टियां एक-दूसरे के ऊपर आरोप लगाकर नौंटकी करने का काम कर रहे हैं।


राज्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने जाट समुदाय के साथ जातियों को आरक्षण देकर अपना काम पूरा कर दिया हैं। आरक्षण का मामला अब पूर्णत कोर्ट में है और सभी को अदालत में विश्वास करना चाहिए और कानूनी लड़ाई लडऩी चाहिए। सरकार अदालत में अपना कानूनी पक्ष सही तरीके से प्रस्तुत कर रही हैं। प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाना सरकार का कर्तव्य है। अगर कोई व्यक्ति कानून को हाथ में लेगा तो उसे किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा।


उन्होंने विपक्षी दलों पर प्रहार करते हुए कहा कि प्रदेश में शांति बनाए रखना सभी लोगों के साथ-साथ राजनैतिक पार्टियों का कर्तव्य है। इसके बावजुद कुछ पार्टियां आग लगाने का काम कर रही हैं। इन राजनैतिक दलों की मंशा है कि सरकार को अस्थिर किया जाए लेकिन राज्य सरकार उनके मनसूबों को कभी पूरा नहीं होने देगी। इस मौके पर लाडवा विधायक डा. पवन सैनी भाजपा के जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर सहित अन्य भाजपा नेता व गणमान्य लोग मौजूद थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top