Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अपना दल ने की फिल्म मराठवाड़ा को टैक्स फ्री करने की मांग

 Sabahat Vijeta |  2016-06-07 14:21:04.0

pallaviलखनऊ. अपना दल की राष्ट्रीय, प्रांतीय कार्यसमिति एवं मण्डल तथा जिला अध्यक्षों की संयुक्त बैठक में मिशन-2017 पर विचार-विमर्श हुआ. दारुल-शफा के ए ब्लाक के कामन हाल में प्रदेश अध्यक्ष छोटेलाल मौर्य की अध्यक्षता में संपन्न हुई इस बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती कृष्णा पटेल ने कहा कि मिशन – 2017 विधानसभा चुनाव के लिए आप सभी युद्ध स्तर पर जुटकर दल की नीतियों को जन-जन तक पहुंचाकर संगठन को ग्रास रूट पर खड़ा करें. पूरे प्रदेश की 403 विधानसभाओं में एक लाख चालीस हजार बूथ हैं. प्रत्येक बूथ में हमारा एक सक्रिय कार्यकर्ता होना जरूरी है. पहले चक्र में हमारी जो ए क्लास की 87 विधानसभा सीटें हैं और बी क्लास में से 63 सीटें लेकर लगभग 150 विधानसभाओं में कार्यक्रम लगाकर बूथ स्तर तक का संगठन बनाकर देना होगा. प्रत्येक बूथ में दो सक्रिय कार्यकर्ता बनाना अनिवार्य है जिसमें एक नौजवान एक पढ़ी लिखी महिला होनी चाहिए. जो घर के अंदर जाकर महिलाओं को दल की नीतियां बताकर दल से जोड़ने का काम करेगी. इस प्रकार हमें हर हालत में 150 विधानसभा की तैयारी के लिए पचास हजार बूथों में अपने दो सक्रिय पदाधिकारी बनाने के लिए एक लाख सक्रिय कार्यकर्ता लगाने पड़ेगे जो बूथ के अध्यक्ष कहलाएंगे.


यह भी ध्यान देना आवश्यक है कि संगठन कि प्रत्येक इकाई में सामाजिक न्याय के तहत हर जाति, समुदाय को संगठन में जोड़कर भागीदारी का फार्मूला लागू कर जिसकी जितनी आबादी उसकी उतनी हर क्षेत्र में भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी. हमें हर हालत में मिशन 2017 को कामयाब बनाकर सत्ता में भागीदारी सुनिश्चित करना होगा जिसके लिए हमारी राष्ट्रीय कार्यसमिति ने 6 जून से लगातार 12 जून तक संगठन की मजबूती के लिए किसान सम्मेलन एवं संगठन समीक्षा कार्यक्रम लगाए गए हैं जो कौशाम्बी, प्रतापगढ़, जौनपुर,वाराणसी, सीतापुर में हैं.


श्रीमती कृष्णा पटेल ने कहा कि मथुरा में जवाहरबाग की खूनी घटना ने प्रदेश सरकार की कानून व्यवस्था की पोल खोल दी है। जिसमें हमारे दो नौजवान पुलिस आफिसर शहीद हो गए जो चिंताजनक है. सरकार द्वारा दहशतगर्दों को दो साल तक पूरी सुविधाएं मुहैया कराकर क्यों रहने दिया गया? घटना सरकार की मिलीभगत की पोल खोलता है. अपना दल उक्त घटना की सीबीआई से जांच कराने और मृतक पुलिस अधिकारियों के आश्रित परिवार को एक-एक करोड़ रुपए मुआवजा देने की मांग करता है तथा कथित सत्याग्रही दहशतगर्दों को जो सुविधाएं मुहैया कराते थे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.


बैठक राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पल्लवी पटेल ने कहा कि विधानसभा चुनाव 2017 का मिशन आप सभी जांबाज कार्यकर्ताओं के सहारे कामयाब होगा. सत्ता में भागीदारी सुनिश्चित होगी. इसके लिए हमें तन मन धन से लगकर आपसी भाईचारा बनाकर अनुशासन के दायरे में रहकर धरातल पर काम करना होगा. हमें अपनी नीतियां जैसे मतदाता पेंशन, किसान आयोग का गठन, कृषि को उद्योग का दर्जा, शिक्षा का राष्ट्रीयकरण, पूरे भारत में एक समान शिक्षा नीति, भ्रष्टाचार को राष्ट्रद्रोह घोषित कर मृत्यु दण्ड की सजा आदि तमाम मुद्दे बताकर लोगों को दल से जोड़ना होगा.


पल्लवी पटेल ने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा पेट्रो पदार्थों डीजल और गैस के दाम बढ़ाने से मध्यम वर्गीय और किसानों पर अधिक प्रभाव पड़ेगा. एक तरफ किसान और गरीब, मजदूर सूखे की मार और दैवीय आपदा से जूझ रहा है वहीं दूसरी तरफ डीजल और रसोईं गैस के दाम बढ़ाने से दोहरी मार झेलने को विवश हैं. लगातार पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ोत्तरी से किसानों की कमर तोड़ने का काम किया गया है. अपना दल केन्द्र सरकार से मांग करता है कि पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़े हुए दाम वापस लिए जाएं और किसानों को डीजल में सब्सिडी देकर उन्हें महंगाई की मार और सूखे से निपटने के लिए राहत दी जाए. किसानों की समस्याओं पर बनी फिल्म मराठवाड़ा देश के हर राज्य में टैक्सफ्री की जाए.


पल्लवी पटेल ने बताया कि भारत के संविधान ने मंडल कमीशन के रास्ते से दलित और पिछड़ों को आरक्षण दिया गया है. अपना दल प्रमोशन में भी आरक्षण देने की वकालत करता है और यह भी मांग करता है कि हर क्षेत्र में आरक्षण लागू हो जिससे सामाजिक गैर बराबरी दूर हो. पर्यावरण पर बोलते उन्होंने कहा कि वैश्विक तापमान धरती के लिए बड़ा खतरा है. वैश्विक तापमान प्राकृतिक संसाधनों का अंधाधुंध दोहन का दुष्परिणाम है. पर्यावरण असंतुलन से आपदाएं बढ़ी हैं इसे संवारने की जिम्मेदारी सरकार के साथ हमारी भी है. पूर्व की बसपा सरकार व वर्तमान की सपा सरकार के कार्यकाल में वनों की अंधाधुंध कटाई हुई जिसके कारण प्रदेश के कई जिले सूखे की मार झेल रहे हैं. वनों की कटाई एवं पहाड़ों की छटाई में सख्त नियम बनाकर इसे रोकने का काम ग्रीन ट्रिव्यूनल को करना होगा. किसानों की समस्याओं पर कहा कि महंगाई के इस युग में किसानों के उत्पादन का कोई मोल नहीं है. किसानों के लिए प्याज घाटे का सौदा रहा चार रुपए किलो भी कोई पूछने वाला नहीं है. किसानों को सही मूल्य न मिल पाने के कारण व साहूकारों से उधार पैसा लेकर अपनी जरूरतों को पूरा न करपाने के कारण वे आत्महत्या को विवश हो रहे हैं.


प्रदेश अध्यक्ष छोटेलाल मौर्य ने कहा सदस्यता अभियान प्रत्येक गांव में कैम्प लगाकर किया जाना चाहिए. सेक्टर अध्यक्ष सदस्यता अभियान को युद्ध स्तर पर शुरू करें. संगठन समीक्षा प्रत्येक जिले में लगाया गया है जिसमें दो ग्रुप बांटे गए हैं. प्रथम ग्रुप में राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती कृष्णा पटेल के नेतृत्व में 15 जून को फतेहपुर, 16 जून को कौशाम्बी, 17 जून को इलाहाबाद, 18 जून को प्रतापगढ़, 19 जून को सुल्तानपुर, 20 जून को जौनपुर, 21 जून को वाराणसी, 22 जून को मिर्जापुर, 23 जून को कुशीनगर व देवरिया एवं 24 जून को महराजगंज व गोरखपुर तथा दूसरे ग्रुप में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पल्लवी पटेल के नेतृत्व में 15 जून को सीतापुर, 16 जून बाराबंकी, 17 जून को बहराइच व श्रावस्ती, 18 जून को बलरामपुर व गोण्डा, 19 जून फैजाबाद, 20 जून को अम्बेडकरनगर, 21 जून को आजमगढ़, 22 जून को मऊ, 23 जून को कुशीनगर व देवरिया एवं 24 जून को महराजगंज व गोरखपुर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top