Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कश्मीर में पत्थर फेंकने वालों की वकालत घटिया राजनीति : जेटली 

 Vikas Tiwari |  2016-08-21 11:22:34.0

कश्मीर घाटीजम्मू. केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने रविवार को यहां कहा कि कश्मीर घाटी में पत्थर फेंकने वालों की वकालत करने वाले घटिया राजनीति कर रहे हैं। जेटली ने जनसंघ (आज की भाजपा) के संस्थापक प्रेमनाथ डोगरा की स्मृति में यहां सांबा जिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि कश्मीर घाटी में हिंसा और पथराव की वकालत करने वालों के दिमाग में घटिया राजनीति के अलावा कुछ नहीं है।

कश्मीर घाटी को पकिस्तान बाटना चाहता है


उन्होंने कहा, "बाहर कुछ लोग कश्मीर में मानवाधिकारों की बात करते हैं। क्या कभी उन्होंने घाटी का दौरा किया है और उन सुरक्षाकर्मियों को देखा है, जो अपनी ड्यूटी करते हुए घायल हुए हैं?"

जेटली ने कहा, "1947 में जब भारत आजाद हुआ था, तब इसकी आजादी शांति और विकास के लिए थी। जबकि पाकिस्तान को केवल भारत को बांटने के लिए बनाया गया।"

यह भी पढ़ें : हिंदुओं के बच्चे भूखे मर रहे हैं, BJP सांप्रदायिक ताकतों का मजबूत कर रही: मायावती

जेटली ने कहा, "भाारत के साथ तीन लड़ाइयों में बुरी तरह हारने के बाद पाकिस्तान ने 1990 के दशक में हमारे साथ छद्म युद्ध शुरू कर दिया। 2008 और 2010 में उन्होंने अपने छद्म युद्ध को पथराव का नया चेहरा दे दिया और इस बार भी घाटी में यही हो रहा है।"

मंत्री ने कहा कि आतंकवाद और पथराव के साथ सख्ती से निपटना होगा और ऐसी स्थितियों से निपटने में कोई ढिलाई नहीं दिखाई जानी चाहिए।

'जब जेएनयू में राष्ट्र विरोधी नारे लगे थे तो केवल भाजपा ने संसद के भीतर और बाहर इसका विरोध किया था। जबकि कई राजनीतिक पार्टियों ने ऐसे लोगों का समर्थन किया। यहां तक कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी उनको समर्थन देने जेएनयू गए थे।'

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top