Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बुआ-भतीजे के कार्यकाल की जांच करायेगी भाजपा : केशव मौर्या

 Sabahat Vijeta |  2016-09-04 14:49:24.0

keshav


तहलका न्यूज़ ब्यूरो 


लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने बसपा सुप्रीमो मायावती की रैली के बाद उनकी कथनी और करनी में फर्क पर उनकी जमकर बखिया उधेड़ी. उन्होंने कहा कि मायावती ने इस रैली का नाम सर्वजन हिताय-सर्वजन सुखाय रखा था लेकिन मंच पर सिर्फ एक कुर्सी डालकर आचरण ‘एक जन हिताय-एक जन सुखाय’ का पेश किया. केशव मौर्या ने कहा कि भाजपा सत्ता में आयेगी तो बुआ-भतीजे दोनों के कारनामों का पर्दाफाश करेगी.


भाजपा अध्यक्ष केशव मौर्या ने कहा कि बसपा की वास्तविक स्थिति से घबराई मायावती भाजपा के साथ-साथ मीडिया पर अनर्गल आरोप लगाने से बाज नहीं आईं. उन्होंने बसपा की आज की इलाहाबाद रैली को फेल करार देते हुए वाराणसी, इलाहाबाद एवं मिर्जापुर मण्डल की जनता को बधाई दी. श्री मौर्या ने कहा कि बुआजी ने भतीजे अखिलेश की सरकार पर कुल ढाई से तीन मिनट बोला परन्तु भतीजे का नाम नहीं लिया, जबकि 2017 का चुनाव अखिलेश सरकार के रिपोर्ट कार्ड पर होना है मोदी सरकार के कार्य पर नहीं.


केशव मौर्या ने कहा कि सड़क/पानी/बिजली/स्वास्थ्य/कानून व्यवस्था राज्य का मामला होता है लेकिन मायावती ने आरोप केन्द्र पर मढ़े और भतीजे अखिलेश यादव का बचाव किया. उन्होंने कहा कि भतीजे अखिलेश यादव की सरकार को बचाव करना सुश्री मायावती की मजबूरी है उनको पास्को एक्ट से नसीमुद्दीन सिद्दीकी को और लोकायुक्त की जांच में फंसी अपनी सरकार के तत्कालीन 22 मंत्रियों को कार्यवाही से जो बचाना है.


प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आंकड़े बताते हैं कि अखिलेश सरकार में दलित उत्पीड़न के मामलों में बेतहाशा वृद्धि हुई है. यहां के मामलों में सुश्री मायावती चुप क्यों है ? उन्होंने कहा कि जातीय विद्वेष की राजनीति करने वाली मायावती के मुंह से सर्वजन हिताय का नारा हास्यास्पद लगता है. मौर्या ने सवाल किया कि मायावती जबाब दें कि उनके कार्यकाल में दलित उत्पीड़न के 30 हजार से ज्यादा मामले दर्ज हुये. उन्होंने कहा कि आज मायावती की रैली सम्बोधन में उनकी घबराहट व बसपा के उखड़ते जनाधार से व्याप्त भय स्पष्ट झलक रहा था.


उन्होंने कहा कि मायावती की बौखलाहट का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होंने मीडिया पर भी मैनेज होने आरोप लगा दिया. दरअसल मोदी की लोकप्रियता से घबरा गई हैं मायावती. उन्होंने कहा कि सपा-बसपा का भ्रष्टाचार पर समान आचरण है. बसपा टिकट बेच रही है. सपा रूपये लेकर जिलाधिकारी की नियुक्ति कर रही है. (आई.ए.एस. अशोक कुमार ने कल आरोप लगाया कि मेरे पास जिलाधिकारी बनने के लिए 70 लाख रूपये नहीं है)


केशव मौर्या ने कहा कि भाजपा की सरकार बनने पर कल्याण सिंह, राजनाथ सिंह एवं रामप्रकाश गुप्ता के मुख्यमंत्रित्व काल की कानून व्यवस्था बहाल की जायेगी. साथ ही भाजपा की सरकार बनने पर सपा-बसपा, भतीजे-बुआ की सरकार में काले कारनामों की जांच होगी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top