Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बीसीसीआई को राजकोट टेस्ट के लिए मिले 58.66 लाख रुपये

 Vikas Tiwari |  2016-11-08 15:59:21.0

बीसीसीआई


नई दिल्ली. सर्वोच्च न्यायालय ने मंगलवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को इंग्लैंड के खिलाफ राजकोट में होने वाले पहले टेस्ट मैच के लिए 58.66 लाख रुपये खर्च करने की इजाजत दे दी। भारत और इंग्लैंड के बीच बुधवार से राजकोट में शुरू होने वाले मैच से पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला शुरू हो रही है।

प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति टी. एस. ठाकुर, न्यायमूर्ति ए. एम. खानविलकर और न्यायमूर्ति डी. वाई. चंद्रचूड़ ने कहा कि बीसीसीआई तीन दिसंबर तक इंग्लैंड के खिलाफ चलने वाली श्रृंखला के अन्य मैचों के लिए भी इतनी ही राशि खर्च कर सकता है।


बीसीसीआई को खर्च करने की इजाजत देते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि यह राशि राजकोट या सौराष्ट्र क्रिकेट संघ को भुगतान के लिए जारी नहीं की गई है, बल्कि बीसीसीआई के साथ हुए करार के तहत खिलाड़ियों के भत्ते, बीमा राशि और तीसरे अंपायर के वेतन के लिए जारी की गई है।

सर्वोच्च न्यायालय ने 21 अक्टूबर को जारी अपने आदेश में कहा था कि जब तक राज्य क्रिकेट संघ सर्वोच्च न्यायालय द्वारा स्वीकार की जा चुकी लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू करने का शपथ-पत्र नहीं देते तब तक उन्हें कोई राशि जारी नहीं की जाएगी।

लोढ़ा समिति ने मंगलवार को अदालत के समक्ष अपनी दूसरी स्थिति रिपोर्ट पेश की। लोढ़ा समिति के सदस्य सचिव गोपाल शंकरनारायण ने यह स्थिति रिपोर्ट पेश की।

सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि बीसीसीआई इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला के समापन के बाद लोढ़ा समिति को अपने बैंक खाते सौंप देगा और समिति एक स्वतंत्र लेखा परीक्षक द्वारा इन खातों का लेखा-जोखा तैयार करवाएगी।

अदालत ने समिति को सचिव स्तर के अधिकारियों, स्वतंत्र लेखा परीक्षक और विशेषज्ञों की नियुक्ति की इजाजत भी दे दी है, जो इस बात की निगरानी करेंगे कि सर्वोच्च न्यायालय के 21 अक्टूबर को दिए आदेश का पालन किया जा रहा है या नहीं।

बीसीसीआई ने मंगलवार को न्यायमूर्ति अनिल आर. दवे और न्यायमूर्ति ए. एम. खानविलकर की पीठ के समक्ष अपनी याचिक पर समय से पूर्व सुनवाई का अनुरोध किया और राजकोट टेस्ट कराए जाने के लिए धनराशि जारी करने की इजाजत मांगी।

बीसीसीआई ने कहा कि धनराशि का उपयोग करने की इजाजत न होने के चलते राजकोट टेस्ट को रद्द करना पड़ सकता है।

बीसीसीआई की ओर से वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने अदालत से कहा कि बीसीसीआई को यदि धनराशि खर्च करने की इजाजत नहीं मिली तो बुधवार को राजकोट में इंग्लैंड के खिलाफ होने वाला पहला टेस्ट मैच रद्द करना पड़ सकता है।


Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top