Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

भाजपा नेता के बेटे को उल्फा ने किया अगवा

 Vikas Tiwari |  2016-08-22 13:17:55.0

भाजपा असम. असम के तिनसुकिया जिला परिषद के भाजपा उपाध्यक्ष रत्नेश्वर मोरान के बेटे कुलदीप मोरान को उल्फा के उग्रवादियों ने अगवा कर लिया है. उग्रवादियों ने बीजेपी विधायक बोलिन चेतिया को एक वीडियो संदेश भेजा, जिसमें कुलदीप को छोड़ने के एवज में एक करोड़ रुपये की फिरौती मांगी गई है. वीडियो में उग्रवादी संगठन ने रत्नेश्वर मोरान से कहा है कि वो जल्द से जल्द पैसे का इंतजाम करें, वरना हश्र बुरा होगा. 27 साल का कुलदीप अपने चाचा बोलिन चेतिया के साथ काम करता था और उनके काफी करीब था. बोलिन हाल में हुए विधानसभा चुनाव में सादिया क्षेत्र से जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं. मोरान और चेतिया इससे पहले कांग्रेस में थे, लेकिन इस साल विधानसभा चुनाव से पहले 

बीजेपी में शामिल हो गए थे.

पुलिस ने शुरू किया सर्च ऑपरेशन
उग्रवादियों की ओर से भेजे गए वीडियो में कुलदीप अपनी जान की गुहार करता दिख रहा है. वो अपने परिजनों और राज्य के सीएम सर्बानंद सोनोवाल से मामले की गंभीरता से विचार करने और उसकी जल्द से जल्द रिहाई सुनिश्च‍ित कराने की अपील भी कर रहा है. इस बीच, राज्य 
पुलिस
 ने कुलदीप की रिहाई के लिए सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है. बीजेपी विधायक का कहना है कि वो अपने भतीजे की रिहाई के लिए हरसंभव कोशिश करेंगे.

असम के तिनसुकिया जिला परिषद के भाजपा उपाध्यक्ष रत्नेश्वर मोरान के बेटे कुलदीप मोरान को उल्फा के उग्रवादियों ने अगवा कर लिया है. असम में तीसरी बार बीजेपी की सरकार बनी है. उग्रवादियों ने बीजेपी विधायक बोलिन चेतिया को एक वीडियो संदेश भेजा, जिसमें कुलदीप को छोड़ने के एवज में एक करोड़ रुपये की 
फिरौती मांगी
 गई है.

27 साल का है कुलदीप
वीडियो में उग्रवादी संगठन ने रत्नेश्वर मोरान से कहा है कि वो जल्द से जल्द पैसे का इंतजाम करें, वरना हश्र बुरा होगा. 27 साल का कुलदीप अपने चाचा बोलिन चेतिया के साथ काम करता था और उनके काफी करीब था. बोलिन हाल में हुए विधानसभा चुनाव में सादिया क्षेत्र से जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं. मोरान और चेतिया इससे पहले कांग्रेस में थे, लेकिन इस साल विधानसभा चुनाव से पहले 
बीजेपी में शामिल
 हो गए थे.

पुलिस ने शुरू किया सर्च ऑपरेशन
उग्रवादियों की ओर से भेजे गए वीडियो में कुलदीप अपनी जान की गुहार करता दिख रहा है. वो अपने परिजनों और राज्य के सीएम सर्बानंद सोनोवाल से मामले की गंभीरता से विचार करने और उसकी जल्द से जल्द रिहाई सुनिश्च‍ित कराने की अपील भी कर रहा है. इस बीच, राज्य पुलिस ने कुलदीप की रिहाई के लिए सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है. बीजेपी विधायक का कहना है कि वो अपने भतीजे की रिहाई के लिए हरसंभव कोशिश करेंगे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top