Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

धम्म चेतना यात्रा के जरिये बौद्ध दलितों को साध रही है भाजपा

 Tahlka News |  2016-06-07 14:41:08.0

dhamm chetana yatra

उत्कर्ष सिन्हा

लखनऊ. आंबेडकर जयंती से बौद्ध भिक्खूओ की धम्म चेतना यात्रा जैसे जैसे आगे बढ़ रही है वैसे वैसे इसमें सियासी रंग और गाढ़ा होता जा रहा है. अपनी प्रथम चरण में फिलहाल यह यात्रा यूपी के पूर्वांचल के 24 जिलों में चल रही है.

हालाकि सारनाथ से शुरू हुयी इस यात्रा को हरी झंडी भाजपा नेताओं ने दिखाई थी मगर यूपी के शीर्ष भाजपा नेताओं ने अब तक इस पर कोई बात नहीं की है. कोशिश यह भी है कि यह यात्रा मुख्य धारा की मीडिया में बहस का मुद्दा न बने. इस धम्म यात्रा के जरिये भाजपा बौद्धों के बीच अपनी पैठ बना रही है. ध्यान देने की बात यह है कि यूपी के अधिसंख्य बौद्ध दलित समुदाय से आते हैं जिन्होंने बौद्ध धर्म की दीक्षा ले ली है.


अखिल भारतीय भिक्षु महासंघ द्वारा आयोजित इस यात्रा की अगुआई कर रहे भिख्खु डा. धम्म वेरियो पहले विवादित रहे हैं. उनपर फंड के दुरुपयोग के इल्जाम लगे थे और उन्हें जेल जाना पड़ा था. खास बात यह है कि इस यात्रा में इस्तेमाल की जा रही SUV गाड़ियों पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पोस्टर भी लगे हैं.

धम्म यात्रा का पहला चरण 10 जून को पूरा होगा. उसके बाद यह यात्रा पश्चिम यूपी, बुंदेलखंड और मध्य यूपी से गुजरेगी. 14 अक्टूबर को जब यह यात्रा लखनऊ में ख़त्म होगी तब प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी एक बड़ी रैली करेंगे.

14 अक्टूबर 1956 को ही बाबा साहब आंबेडकर ने बौद्ध धर्म की दीक्षा ली थी. बाबा साहब आंबेडकर के जरिये भाजपा पहले से ही दलितों को अपने पाले में लेने की रणनीति पर काम कर रही है.

यूपी में मायावती के परंपरागत वोटो में सेंध लगाने के लिए भाजपा बहुत ही सुनियोजित रणनीति पर काम कर रही है. इस काम में आरएसएस उसका पूरा साथ दे रहा है. संघ ने पहले दलितों के बीच समरसता भोज का कार्यकम चलाया और जब यह कार्यक्रम अपना चरण पूरा कर चुका तब पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने वाराणसी में एक दलित परिवार के साथ खाना खा कर इस कार्यक्रम को भाजपा के कार्यक्रम में परिवर्तित कर दिया.

इसी रणनीति के तहत अब धम्म यात्रा भी की जा रही है. यूपी में लगभग 50 लाख से ज्यादा बौद्ध है. इनमे से लगभग 80 प्रतिशत दलित समुदाय से आते हैं. संघ का सोचना है कि इस यात्रा के जरिये दलितों में सन्देश भी जाएगा और भाजपा के पक्ष में सकारात्मक प्रभाव भी पड़ेगा.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top