Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मुलायम ने कांग्रेस तोड़कर चन्द्रशेखर को प्रधानमंत्री बनाया था

 Sabahat Vijeta |  2016-04-17 15:50:37.0

mulayam-singh-yadavतहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ, 17 अप्रैल. पूर्व प्रधानमन्त्री चन्द्रशेखर की 90वीं जयन्ती पर समाजवादी पार्टी मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने कहा कि चन्द्रशेखर से उनके बहुत अच्छे रिश्ते थे. उन्होंने दावा किया कि उन्होंने ही कांग्रेस सांसद संजय सिंह को तोड़कर चन्द्रशेखर को प्रधानमंत्री बनाया था. मुलायम सिंह यादव का यह चौंकाने वाला बयान ठीक ऐसे समय पर आया है जब यूपीए-1 में देश के कानून मंत्री रहे हंसराज भरद्वाज ने यह खुलासा किया है कि 2007 में भ्रष्टाचार मामले में कांग्रेस सरकार यूपी की मुलायम सरकार को बर्खास्त करना चाहती थी. हंसराज भरद्वाज का बयान और मुलायम सिंह यादव का आज का बयान समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच तल्खियाँ बढ़ा सकता है.


मुलायम सिंह यादव ने कहा कि जब भी मैं चन्द्रशेखर जी के पास जाता था तो वह मुझे गाड़ी तक छोड़ने आते थे. एक बार कुछ लोग खड़े थे तो उन्होंने कहा कि चन्द्रशेखर जी आपको पीएम बनना चाहिए. इस पर चन्द्रशेखर के मुंह से निकला कि अगर मुलायम सिंह चाहें तो मैं 10 दिन में शपथ ले लूं. चन्द्रशेखर के इतना कहने के बाद मैं गंभीर हो गया और कहा कि विचार करूंगा. फिर मैंने कांग्रेस से संजय सिंह को तोड़ा. उस समय मैं मुख्यमंत्री था पर तत्कालीन प्रधानमंत्री ने मुझे कभी मुख्य्मन्त्री के रूप में देखा ही नहीं. उन्हें मुझसे बहुत ज्यादा परेशानी थी पर मुझे भी कभी इसकी परवाह नहीं हुई.


chandrashekharउन्होंने कहा कि धीरे-धीरे तत्कालीन प्रधानमंत्री से लोगों की नाराजगी बढ़ती गई और हम लोगों ने विद्रोह कर चन्द्रशेखर जी को प्रधानमंत्री बना दिया. उसके बाद बात उठी कि कांग्रेस को कौन तोड़े तो मैंने राजीव गांधी से मिलकर बात की.


मुलायम सिंह ने कहा कि चन्द्रशेखर को समर्थन के सवाल पर वह राजीव गांधी से मिले. राजीव गांधी ने यह शर्त रखी कि मंत्रिमंडल कितना भी बड़ा हो पर कमल मोरारका को मंत्री न बनाया जाए.


यदि मंत्री बनाया भी जाए तो उन्हें प्रधानमंत्री सचिवालय में मंत्री न बनाया जाए. चन्द्रशेखर नहीं माने और कमल मोरारका को मंत्री बनाकर अपनी कुर्सी को गंवा दिया.


मुलायम सिंह यादव ने कहा कि फिर उन्होंने जनेश्वर को खड़ा किया और वह मंत्रिमंडल में शामिल हुए. मुलायम ने माना कि कमल मोरारका को मंत्री बनाने का चन्द्रशेखर सिंह का कदम ठीक नहीं था. लेकिन चंद्रशेखर अपने निष्ठावान साथी का अपमान नहीं होने देना चाहते थे.


उन्होंने कहा कि जब सोशलिस्ट पार्टी और प्रजा सोशलिस्ट पार्टी मिलकर संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी बनी तब इसमें कई गुट बने लेकिन तब भी चन्द्रशेखर जी ने कोई गुट नहीं बनाया.


चन्द्रशेखर की जयन्ती पर मुलायम ने आज जो कुछ भी कहा वह सब तो उनके और चन्द्रशेखर के अच्छे संबंधों को दर्शाता है लेकिन हंसराज भारद्वाज का यह कहना कि कांग्रेस नेतृत्व मुलायम को बर्खास्त करना चाहता था और अगले ही दिन मुलायम का यह कह देना कि चन्द्रशेखर को प्रधानमंत्री बनाने के लिए उन्होंने कांग्रेस तोड़ दी थी. यह दोनों बयान मुलायम और कांग्रेस की तल्खियों को बढ़ा सकते हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top