Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

गलत विज्ञापन करने पर सेलिब्रिटीज को होगी 5 साल की जेल

 Tahlka News |  2016-04-26 13:34:50.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली, 26 अप्रैल. खाद्य पदार्थों में मिलावट के खिलाफ सरकार सख्त कानून बनाने की तैयारी में है। मंगलवार को लोकसभा में स्टैंडिंग कमिटी ने इसकी सिफारिश की। कमिटी ने ऐसे मामलों में स्वतः एफआईआर दर्ज किए जाने सहित कई कड़े प्रावधानों की सिफारिश की है। कमिटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि खाद्य उत्पादों में मिलावट के खिलाफ कड़े कानून बनाने की बेहद जरूरत है। किसानों की ओर से खाद्यान्न फसलों में दवाइयों, कीटनाशकों और रासायनिक उर्वरकों के इस्तेमाल से पहले ही काफी मिलावट हो जाती है। इस पर रोकथाम की भी जरूरत है।


लोकसभा के बीते सत्र में पेश हुआ था बिल
लोकसभा के बीते सत्र में कंज्यूमर प्रोटेक्शन बिल को पेश किया गया था। जिसे बाद में स्टैंडिंग कमिटी को भेज दिया गया था। कमिटी की रिपोर्ट में कहा गया है कि कानून बनाकर इसे अनिवार्य कर दिया जाए कि उपभोक्ताओं की ओर से खाद्य पदार्थों में मिलावट की शिकायत के तुरंत बाद एफआईआर दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया जाए।


सेलिब्रेटिज को अधिक सावधान रहने की जरूरत
उपभोक्ता मामले, खाद्य और जनवितरण को लेकर स्टैंडिंग कमिटी की रिपोर्ट में खाद्य पदार्थों का ब्रांड एंबेस्डर बनाए गए सेलिब्रेटिज को भी सावधान रहने के लिए कहा गया है। रिपोर्ट में सिफारिश की गई है कि पद्मश्री, पद्मभूषण, पद्म विभूषण और यहां तक कि भारत रत्न से सम्मानित लोग भी कई उत्पादों का विज्ञापन करते हैं। आम लोग उन हस्तियों की बातों को बिना सोचे मान लेते हैं।


उत्पाद बनाने, बेचने और विज्ञापन करने वालों की जिम्मेदारी
कमिटी ने कहा है कि मौजूदा कानून ऐसे उत्पाद बेचने वाले कारोबारियों और विज्ञापन करने वालों के साथ ही सेलिब्रेटिज पर काबू के लिए नाकाफी है। इस पर रोक लगाने के लिए सख्त कदम उठाने की जरूरत है। कमिटी ने इस बिल में इन सब लोगों की व्यक्तिगत जिम्मेदारी तय करने की सिफारिश की है।


पहली गलती पर 10 लाख जुर्माना या दो साल की जेल
कमिटी ने इस कानून को तोड़ने पर दोषियों के लिए 10 लाख रुपये का जुर्माना या दो साल की जेल या दोनों सजा ही देने की सिफारिश की है। दूसरी बार कानून तोड़ने पर 50 लाख रुपये जुर्माना या 5 साल की जेल या दोनों एक साथ दिए जाने और इस तरह की गलती फिर होने पर सेवा या उत्पाद की कीमत और बिक्री के मुताबिक सजा बढ़ाए जाने की भी सिफारिश की है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top