Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

चीफ जस्टिस ने PM मोदी को इंसाफ पर सुनाई खरी-खरी

 Abhishek Tripathi |  2016-08-15 08:18:44.0

cji_ts_thakurतहलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली. न्यायपालिका और कार्यपालिका के बीच चल रही तकरार की हल्की झलक आज फिर दिखाई दी जब स्वतंत्रता दिवस के मौके पर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया टीएस ठाकुर ने पीएम के भाषण में एक बेहद जरूरी मुद्दे का जिक्र नहीं करने पर निराशा जताई। जस्टिस ठाकुर ने जजों की नियुक्ति का मुद्दा उठाया।


जस्टिस ठाकुर ने कहा कि हमें सोचना होगा कि इस देश के लोगों को इंसाफ मिले। मैं उम्मीद कर रहा था कि प्रधानमंत्री और कानून मंत्री के भाषण में जजों की नियुक्ति का जिक्र होगा। मुकदमे बढ़ गए हैं, लोगों की उम्मीदें बढ़ गई हैं।


उन्होंने कहा, मैं बड़ी बेबाकी से बोलता हूं। मुझे न किसी की कोई परेशानी है, न हिचकिचाहट होती है। ग़ुरबत हटाइए, बड़ी स्चेमेस बनाइए, लेकिन देशवासियों के लिए इंसाफ के लिए भी कुछ सोचिए। आज आपने हमारे बहुत ही पॉपुलर प्रधानमंत्री का भाषण सुना, मैं उम्मीद कर रहा था कि इंसाफ की बात होगी। जजों की अपॉइंटमेंट की बात होगी। मैंने बार बार गुज़ारिश की है, इस तरफ भी तवज्जो दीजिए।


जस्टिस ठाकुर ने आखिर में एक शायरी के जरिए मोदी सरकार पर तंज कसा। मो. रफी सौदा की एक गजल की पंक्तियां दोहराते हुए उन्होंने कहा- गुल फेंके हैं औरों की तरफ बल्कि समर भी, ऐ खाना बर अंदाज ए चमन कुछ तो इधर भी।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top