Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी के लॉ एंड आर्डर से दुखी सीएम अखिलेश के पड़ोसी, कहा नहीं थी ऐसी उम्मीद

 Anurag Tiwari |  2016-08-08 06:23:00.0

Akhilesh Yadav, Chief Minister, Uttar Pradesh, Rajnath Singh, Home Minister, Law and Order, Bulandshahar, Bulandshahahr, Gangrape, Highway, Crime Graph, Crime

झांसी. यूपी में कानून व्यवस्था को लेकर सीएम अखिलेश लगातार विरोधियों के निशाने पर हैं। कोई दिन ऐसा नही जा रहा जब विपक्षी पार्टियां सीएम अखिलेश और उनकी सत्ताधारी पार्टी समाजवादी पार्टी को निशाने पर न ले रही हों। इसी सिलिसले को आगे बढ़ाते हुए, अब उनके पडोसी ने ही उन पर बयान देकर घेरा है।

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को उत्तर प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सूबे की अखिलेश यादव सरकार को सवालों के कटघरे में खड़ा किया। बुलंदशहर दुष्कर्म कांड का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें अंदाजा नहीं था कि यूपी में कानून व्यवस्था की हालत इतनी खराब हो जाएगी। झांसी में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का समापन करते हुए राजनाथ ने कहा कि जनता के मन में यूपी को लेकर इतने सवाल खड़े हो गए हैं कि यह अपने आप में प्रश्नों का प्रदेश बन गया है। ऐसी अराजक स्थिति क्यों है। कानून व्यवस्था बद से बदतर बनती जा रही है। पुलिस अधिकारियों पर हमले क्यों हो रहे हैं।


बता दें कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का लखनऊ स्थित सरकारी आवास सीएम अखिलेश के आवास के ठीक बगल में स्थित है। जहाँ सीएम का सरकारी आवास 5 कालिदास मार्ग है वहीँ राजनाथ सिंह 4 कालिदास मार्ग में रहते हैं

cm akhilesh neighbour
राजनाथ ने कहा, "यूपी में हाईवे पर दुष्कर्म हो रहे हैं। इससे पहले इस तरह की घटनाएं नहीं सुनीं। यूपी सरकार अपनी जिम्मेदारियों से बच नहीं सकती। उसे जनता के हर सवाल का जवाब देना होगा। यूपी में भ्रष्टाचार तो संस्थागत हो गया है।"

उन्होंने हैरानी जताई कि यूपी में एक वर्ष में दुष्कर्म की घटनाओं में 161 फीसदी की वृद्धि हुई है। यह शर्मनाक है। ये आंकड़े स्वयं यूपी सरकार के राज्य अपराध ब्यूरो के हैं।

उन्होंने कहा कि लोकपाल जैसी संस्थाओं की नियुक्ति में न्यायालयों को हस्तक्षेप करना पड़ा है। यूपी में भर्तियों में लगातार धांधली हो रही है। यूपी की सरकार अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन ही नहीं कर पा रही है।

राजनाथ ने कहा कि यूपी में पिछले 15 वर्षो से सपा या बसपा की ही सरकार रही है। देश के अन्य राज्यों का इन डेढ़ दशकों में तेजी से विकास हुआ, लेकिन यूपी विकास के मामले में हाशिये पर पहुंच गया।

गृहमंत्री ने दावा किया है कि जिन राज्यों में भाजपा की सरकार है, वहां के लोग इस बात को स्वीकार कर रहे हैं कि सरकार चलाने का असली हुनर भाजपा के पास है। प्रदेश में भाजपा के पक्ष में अनुकूलता बनी है। लोग परिवर्तन चाहते हैं। उनकी उम्मीदों को भाजपा अपने पक्ष में करके पूरा कर सकती है।

राजनाथ ने कहा कि पार्टी पूरी ताकत झोंक दे तो यूपी में भाजपा की सरकार बनने से कोई रोक नही सकता। उन्होंने केंद्र सरकार की ओर से चलायी जा रही आकर्षक योजनाओं को जनता में बेहतर तरीके से पेश करने के लिये कार्यकर्ताओं से गांव-गांव जाने की अपील की।

केंद्र की अति महात्वाकांक्षी प्रधान फसल योजना को लेकर उन्होंने कहा कि यूपी सरकार ने इसे लागू नहीं किया है। क्यों नहीं लागू किया है, इसका जवाब अखिलेश सरकार को किसानों को देना होगा। मोदी सरकार ने तो यूपी में दो वर्षो में ही 1364 गांवों में बिजली पहुंचा दिया है।

राजनाथ ने कहा कि यूपी की सरकार केंद्र पर भेदभाव का जो आरोप लगाती है, यह सरासर गलत है। केंद्र सरकार ने यूपी में दो वर्ष के भीतर 61 हाईवे परियोजनाएं मंजूर की हैं, इन पर 16 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि यूपी हिन्दुस्तान का सबसे बड़ा राज्य है। यूपी का विकास के बिना भारत का विकास अधूरा है। यूपी के विकास के लिए कार्यकर्ताओंको भाजपा की सरकार बनाने के लिए 'मिशन मोड' में जुटना होगा।

राजनाथ ने सवाल उठाया, "आखिर यूपी की जनता सपा और बसपा रूपी दो पाटों के बीच कब तक पिसती रहेगी?"

राजनाथ ने रविवार को कहा कि दूसरे दलों के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं का रुझान भारतीय जनता पार्टी की तरफ हुआ है, जो भी जुड़ना चाहता है उसे जोड़ें। भाजपा के लिए कोई अछूत नहीं है।

राजनाथ ने कहा कि यूपी को विकसित बनाने के लिए किसी भी दल का कार्यकर्ता भाजपा के साथ आना चाहता है, वह आ सकता है।
(तहलका न्यूज ब्यूरो रिपोर्ट एजेंसी इनपुट के साथ)

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top