Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कांग्रेस ने दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को संस्थापित और विकसित किया

 Sabahat Vijeta |  2016-12-28 16:36:44.0

ram-krishna-dwivedi


लखनऊ. कांग्रेस के 131वें स्थापना दिवस पर आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित ‘‘कांग्रेस स्थापना दिवस समारोह’’ को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि कांग्रेस आधुनिक भारतीय राष्ट्र निर्माण की संवाहक संस्था है. जहां वह आजादी की लड़ाई की अग्रणी संस्था रही वहीं उसने भारत में दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को संस्थापित एवं विकसित किया. राष्ट्रवाद, लोकतंत्रवाद, धर्मनिरपेक्षता और समाजवाद कांग्रेस के आधारभूत सिद्धान्त हैं जिनके बिना भारतीय राष्ट्र और गणतंत्र की कल्पना नहीं की जा सकती है.


प्रदेश कांग्रेस के मीडिया सभागार में कांग्रेस स्थापना दिवस के मौके पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया. जिसकी अध्यक्षता प्रदेश कांग्रेस के अनुशासन समिति के चेयरमैन एवं पूर्व मंत्री रामकृष्ण द्विवेदी ने की तथा संचालन प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री हनुमान त्रिपाठी ने किया.


इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में उ.प्र. कांग्रेस कमेटी के कोआर्डिनेशन कमेटी के चेयरमैन एवं सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा कि कांग्रेस के मूलभूत सिद्धान्तों की बुनियाद पर हमारा लोकतंत्र खड़ा हुआ. जिन लोगों का देश की आजादी की लड़ाई से कोई रिश्ता नहीं था और जिन्होने उस समय अंग्रेजों का सहयोग किया, आज ऐसी राजनीतिक विचारधारा हमारे लोकतंत्र और राष्ट्र एवं समाज की एकता की सबसे बड़ी चुनौती है. उन्होने कहा कि आज देश में नोटबन्दी के जरिये आर्थिक अंकुश लगाया जा रहा है और राजनीतिक दासता थोपी जा रही है, मोदी सरकार जब नोटबंदी के मुद्दे पर विफल हुई तो उसने कैशलेस का राग अलापना शुरू कर दिया है. आज देश में तानाशाही है. दुनिया में कोई ऐसा कानून नहीं है कि बैंक में जमा पैसा आम जनता न निकाल सके. पूरे देश में तबाही बची हुई है और देश के लोकतंत्र पर खतरा मंडरा रहा है.


संगोष्ठी में पूर्व मंत्री रामकृष्ण द्विवेदी ने कहा कि कांग्रेस कमजोर होगी तो देश की एकता और लोकतंत्र दोनों कमजोर होंगे. उन्होने कांग्रेसजनों से आवाहन किया कि देश की एकता अखंडता के लिए कांग्रेस पार्टी की विचारधारा को आगे बढ़ायें. नोटबन्दी के जरिये कुछ ताकतें देश को कमजोर करने में जुटी हुई हैं.


इस अवसर पर राजीव गांधी स्टडी सर्किल के राष्ट्रीय समन्वयक प्रो. सतीश राय ने कांग्रेस के इतिहास और आधारभूत सिद्धान्तों पर प्रकाश डालते हुए विषय प्रवर्तन किया.


संगोष्ठी को प्रमुख रूप से पूर्व सांसद डॉ. संतोष सिंह, पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी, संगठन प्रभारी एवं पूर्व विधायक फजले मसूद, विधान परिषद सदस्य दीपक सिंह, प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष मदन मोहन शुक्ल, बृजेन्द्र कुमार सिंह आदि ने सम्बोधित किया.


स्थापना दिवस समारोह में प्रमुख रूप से पूर्व विधायक श्यामकिशोर शुक्ला, प्रमोद सिंह, संजीव सिंह, चौधरी सत्यवीर सिंह, सेवादल के मुख्य संगठक प्रमोद पाण्डेय, सुबोध श्रीवास्तव, द्विजेन्द्र त्रिपाठी, कृष्णकान्त पाण्डेय, शहर अध्यक्ष बोधलाल शुक्ला एडवोकेट एवं जिलाध्यक्ष गौरव चौधरी, शिव पाण्डेय, अमित श्रीवास्तव त्यागी, अरशी रजा, मुकेश सिंह चौहान, विकास श्रीवास्तव, देवेन्द्र प्रताप सिंह, श्री शिव प्रसाद सुदर्शन, श्रीमती अनन्ता तिवारी, शंकरलाल गौतम, श्रीमती सुशीला शर्मा, श्रीमती सुधा सिंह, श्रीमती सुनीता रावत, डा. शहजाद आलम, जे.पी. सिंह एडवोकेट, नसीम खान, राहुल शुक्ला आदि सैंकड़ों कांग्रेसजन मौजूद रहे.


श्री प्रसाद ने बताया कि इसके पूर्व प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पूर्वान्ह कांग्रेस सेवादल द्वारा ‘‘ध्वजवंदन’’ कार्यक्रम के साथ परम्परागत तरीके से सेवादल के स्वयंसेवकों को शपथ दिलायी गयी. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सांसद प्रमोद तिवारी एवं ध्वजरक्षक डॉ. प्रमोद कुमार पाण्डेय मुख्य संगठक सेवादल मौजूद रहे. इस मौके पर प्रमुख रूप से पूर्व मंत्री रामकृष्ण द्विवेदी, प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री हनुमान त्रिपाठी, श्रीमती नीलम खान सदस्य एआईसीसी, प्रवक्ता वीरेन्द्र मदान एवं आर.ए. प्रसाद, महामंत्री प्रमोद सिंह एवं डॉ. आर. पी. त्रिपाठी, करूणेश राठौर, राजेश सिंह काली, श्रीमती शालिनी अग्रवाल, श्रीमती नैना रावत मौजूद रहीं. इस मौके पर वर्ष भर में सेवादल संगठन के उत्कृष्ट कार्य हेतु तीन मुख्य संगठक क्रमशः विश्वास निगम, रोहित गुर्जर, अनुराग मिश्र को सम्मानित किया गया.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top