Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

CRPF ने कहा पेलेट गन का इस्तेमाल रोका तो होंगी ज्यादा मौतें

 Anurag Tiwari |  2016-08-19 15:35:19.0

CRPF. Pellet Gun, Jammu & Kashmir, Jammu and Kashmir, J&K, Blindness, Stone Pelting, Stone Peltersतहलका न्यूज ब्यूरो

श्रीनगर. सीआरपीएफ ने शुक्रवार को जम्मू और कश्मीर हाईकोर्ट को बताया कि कश्मीर में 'पेलेट गन' के प्रयोग पर रोक नहीं लगाई जा सकती क्योंकि इस पर रोक के बाद प्रदर्शनकारियोंको रोकने के लिए उन्हें बुलेट्स का सहारा लेना पड़ेगा जिससे ज़्यादा लोग हताहत हो सकते हैं।

हाईकोर्ट को दिए गए एक एफिडेविट में सीआरपीएफ ने कहा कि अगर पेलेट गन का प्रयोग रोक दिया गया तो चरम स्थितियों में उनके पास प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए कोई चारा नहीं बचेगा और उसे राइफलों का इस्तेमाल करना पडेगा जिसके प्रयोग से ज़्यादा लोगों की मौत हो सकती है।

बता दें कि पेलेट गन के प्रयोग पर सुरक्षा बलों और केंद्र सरकार की काफी आलोचना हुई है क्योंकि छर्रों के आंखों में जाने से बहुत लोग अंधे हो गए और कईयों की मौत भी हो गयी है।

लगभग सभी नेताओं और राजनीतिक दलों ने केंद्र से पेलेट गन के प्रयोग पर रोक लगाने का अनुरोध किया था। वित्त मंत्री अरुणजेटलीने कहा था कि इस विषय पर विषेज्ञयों की राय ली जाएगी।

सीआरपीएफ ने कहा कि पेलेट गन का प्रयोग 2010 में शुरू किया गया था और दंगा नियंत्रण के लिए स्वीकृति भी प्राप्त कर ली थी। सीआरपीएफ ने कहा कि बीती 9 जुलाई से 11 अगस्त तक लगभग 3000 पेलेट कारतूस दागे जा चुके हैं।



Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top