Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

रक्षामंत्री और सेना प्रमुख ने शहीदो को दी श्रद्धांजलि, जैश-ए-मोहम्मद का हाथ

 Girish Tiwari |  2016-09-19 04:46:47.0

defence-ministarश्रीनगर: कश्मीर के उरी सेक्टर में स्थित आर्मी बेस पर हुए आतंकी हमले के बाद शहीद 17 जवानों को आज श्रीनगर में आर्मी के बादामी बाग कैम्प में श्रद्धांजलि दी जाएगी। रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और सेना प्रमुख दलबीर सुहाग श्रीनगर में हैं।


रविवार सुबह आतंकवादियों ने उत्तरी कश्मीर के उरी में स्थित सेना के बटालियन मुख्यालय पर हमला कर दिया, जानकारी के मुताबिक, एनकाउन्टर के दौरान सेना  के  17  जवान शहीद हो गए. और 20 घायल हो गए. जवाबी कार्यवाई  में सेना ने चार आतंकवादियों को मार गिराया. ये सभी जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हुए पकिस्तानी नागरिक थे.

“सूत्रों से खबर की,  आतंकी पाक के कब्ज़े वाले कश्मीर से झेलम नदी के रस्ते भारत में घुसे. और इसके बाद आतंकवदियो ने सुबह-सुबह उरी में सेना के आधार शिविर में सोते हुए जवानों को निशाना बनाया.  उनके पास भारी मात्रा में गोला बारूद और हथियार थे.

दहशतगर्दों ने शिविर के अन्दर घुसते ही  टेंटो में सो रहे सैनिको पर हमला कर दिया और वो  बुरी तरह झुलस गए. सेना के मुताबिक 17 में से 14 जवान आग से झुलसने की वजह से शहीद हुए. जम्मू-कश्मीर में 26 साल से जारी आतंकवाद के दौरान यह सेना पर अब तक का सबसे घातक हमला है.

हमले के बाद पैराकमांडो ने मोर्चा संभाला और तीन घंटे के ऑपरेशन के बाद चारों आतंकियों को मार गिराया.

वही हमले की जानकारी मिलने बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर एक उच्चस्तरीय बैठक हुई. इसके बाद सेना प्रमुख दलबीर सुहाग और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर ने भी श्रीनगर पहुचे हमले के बारे में सेना प्रमुख से जानकारी ली.

इसके बाद हमले में मारे गए आतंकियों के पास से 04 एके-47 और ग्रेनेड बरामद हुए इसके बाद पाकितान के डीजीएमओ को सख्त नाराज़गी के साथ बता दिया गया है कि मारे गए आतंकियों के पास जों हथियार मिले वो पकिस्तान निर्मित चीज़े मिली हैं.

"लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह डीजीएमओ,

05:30 बजे सुबह आतंकी बटालियन मुख्यालय में पहुचें

08:30 बजे दोपहर सेना ने आतंकियों को मार गिराया

12:50 बजे दोपहर चारों आतंकियों के शव बरामद


खास बाते किसने क्या कहा 


जम्मू-कश्मीर की मुख्मंत्री  महबूबा मुफ़्ती ने कहा- उरी हमले में युद्ध जैसे हालात बनाने को कोशिश 


उरी हमले में सेना के 17  जवान शहीद,  डीजीएमो ने बताया- हमलावरों के पास से मिला पकिस्तानी  सामान 


कश्मीर के सेना में आतंकियों से मुठभेड़ 
उरी में सेना पर सबसे बड़ा आतंकी हमला 


उरी हमले के दोषियों की बक्शा नहीं जायेगा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी



महान बलिदान देने वाले बहादुर सैनिकों को श्रद्धांजलि। भारत ऐसे हमलों से नहीं झुकेगा। हम आतंकवादियों और उन्हें मदद पहुंचाने वालों के नापाक मंसूबों को विफल करेंगे।
- प्रणब मुखर्जी, राष्ट्रपति

यह हमारी राष्ट्रीय अंतरात्मा का निरादर है। आशा करती हूं कि हमलावरों के पीछे खड़ी ताकतों के साथ कड़ाई से निपटा जाएगा। भारतीय जवानों की शहादत पर पीड़ा हुई है।

-सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

उरी में सेना शिविर पर आतंकी हमले की घोर निंदा करता हूं। इस हमले में शहीद बहादुर सैनिकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।
- राहुल गांधी, कांग्रेस उपाध्यक्ष

मैं उरी में हुए कायरतापूर्ण हमले की कड़ी निंदा करता हूं। शहीद के परिवारों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। भारत ऐसे हमलों से नहीं डरेगा।

अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के मुख्यमंत्री

वीर और कर्तव्यपरायण शहीद जवानों के परिजनों के प्रति गहरी शोक संवेदना व्यक्त करता हूं। जवानों की इस शहादत को भारतवर्ष कभी भूल नहीं पाएगा।
- नीतीश कुमार, बिहार के मुख्यमंत्री

आतंकी हमलों की घोर निंदा की जानी चाहिए। साथ ही इसे कुचलने के लिए कड़े कदम उठाने होंगे। शहीदों को मैं नमन करता हूं। साथ ही उनके परिजनों की भावना का कद्र करता हूं।

- लालू प्रसाद, राजद प्रमुख

घटना निंदनीय है। जवानों के परिजनों के प्रति हमारी संवेदना है।

-रघुवर दास, झारखंड के मुख्यमंत्री

मोदी सरकार को देश की एकता और अखंडता से समझौता नहीं करना चाहिए। राष्ट्रीय सुरक्षा के संदर्भ में राजनीति से ऊपर उठकर हम सब एक है। लेकिन शांति और विदेश नीति के नाम पर बहादुर जवानों की बलि नहीं दी जानी चाहिए।
- तेजस्वी यादव, बिहार के उप मुख्यमंत्री

मातृभूमि के लिए अपने जीवन का बलिदान करने वाले उरी हमले के शहीदों के परिजनों के साथ गहरी संवेदना है। हमलावरों को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी।

-किरण रिजिजू, गृह राज्यमंत्री

गृहमंत्रालय ने इस हमले को काफी गंभीरता से लिया है। इस तरह के हमलों को हम बर्दाश्त नहीं करेंगे।
- हंसराज अहीर, गृहराज्य मंत्री

भारतीय जवानों के अनमोल जीवन की क्षति हम सभी के लिए परेशान करने वाला क्षण है। मैं यह सोचकर सिहर जाता हूं कि राष्ट्र उनके बलिदान को कैसे चुका सकेगा। हम सभी को साथ आकर एक रणनीति तैयार करने की जरूरत है।
-जितेंद्र सिंह, पीएमओ में राज्यमंत्री

इस तरह की कोई हरकत जम्मू-कश्मीर में शांति एवं सामान्य स्थिति बहाल करने से देश को नहीं रोक सकती। यह पूरी तरह निंदनीय है। पाकिस्तान जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला करवाकर हमारी आतंरिक शांति और प्रेम को खत्म करने की साजिश रच रहा है।

- निर्मला सीतारमण, केंद्रीय मंत्री

हमारे इलाकों में तनाव पैदा करने के लिए अलगाववादी, आतंकी और पाकिस्तन मिलकर भारत के खिलाफ साजिश कर रहे हैं। सरकार पाकिस्तान से होने वाली घुसपैठ को लेकर गंभीर है।
-निर्मल सिंह, जम्मू-कश्मीर के उपमुख्यमंत्री

पाकिस्तान को चरमपंथी ताकतों को मदद देना और उकसाना बंद करना चाहिए। इन हमलों के मुद्दे को गंभीरता से लिया जाना चाहिए। आतंकवाद कश्मीर समस्या का समाधान नहीं है। यह केवल दोनों देशों के बीच वार्ता से ही सुलझ सकता है।
- सीताराम येचुरी, माकपा महासचिव

हम सेना के साथ हैं। सेना हमारे देश की रक्षक है और हमें जोड़कर रखती है।
गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस नेता


सरकार को इस तरह के हमले रोकने के लिए कुछ और सख्त होने की जरूरत है। यदि ऐसा किया होता तो इस तरह का हमला रोका जा सकता था।
- लक्ष्मी पारसेकर, मुख्यमंत्री गोवा

हम इस तरह के हमलों को आतंकी हमला कहकर खुद को धोखा दे रहे हैं। इस तरह के हमले रोकने के लिए हमें उन्हीं की भाषा में ही जवाब देना होगा। इस तरह के हमलों को पाकिस्तान सेना आतंकियों को आगे कर करवाती है।
-आरके सिंह, पूर्व गृह सचिव

उरी में शहीद हुए जवानों की खबर से काफी आहत हूं। मैं उन शहीद जवानोंं को नमन करती हूं। मेरी पूरी संवेदनाएं उनके परिवारों के साथ है।
- स्मृति इरानी, केंद्रीय मंत्री

रणनीतिक संयम के दिन पूरे हो गए और उरी आतंकी हमले के बाद एक दांत के लिए पूरा जबड़ा की नीति अपनाई जानी चाहिए। प्रधानमंत्री ने वादा किया है कि उरी आतंकी हमले के पीछे जो भी लोग हैं, वे सजा से नहीं बच पाएंगे। यह अगला रास्ता होना चाहिए। एक दांत के लिए पूरा जबड़ा।

-राम माधव, भाजपा नेता

इस तरह के कायराना हमले से हम कमजोर नहीं होंगे। हमारे हौसले ज्यादा मजबूत होंगे और आतंकवाद से लड़ने के हमारे संकल्प को बल मिलेगा।
-रणदीपसिंह सुरजेवाला, कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख

भारत सरकार को पाकिस्तान को अलग-थलग करने की अपनी रणनीति पर पुनर्विचार करने की जरूरत है। उरी में जो हुआ वह गलत और निंदनीय है। भारत सरकार को बैठकर उपयोग में लाए जा रहे विभिन्न विकल्पों पर विचार करना चाहिए।
मनीष तिवारी, कांग्रेस नेता

सरकार को आतंकी गतिविधियों के साथ सख्ती से निपटना चाहिए। स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए तेजी से कार्रवाई करनी चाहिए।
- अहमद पटेल, कांग्रेस नेता

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top