Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी का विकास अन्य राज्यों के लिये उदाहरण

 Sabahat Vijeta |  2016-08-23 15:14:07.0

cm-sahgal




  • समाजवादी सरकार ने प्रदेश को नई दिशा दी: मुख्यमंत्री

  • प्रदेश सरकार के विभिन्न निर्णयों एवं बुनियादी सुविधाओं के फलस्वरूप उद्योग-धंधों का विकास हो रहा है

  • समाजवादी सरकार का काम दूसरे प्रदेशों के लिए एक उदाहरण

  • आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे राज्य के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगा

  • समाजवादी सरकार ने किसानों में भरोसा पैदा किया

  • मुख्यमंत्री ने राज्य के सार्वजनिक क्षेत्र के प्रतिष्ठानों को पुरस्कृत किया

  • मुख्यमंत्री ने स्मार्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर समिट-2016 को सम्बोधित किया


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि समाजवादी सरकार ने प्रदेश को नई दिशा दी है। विगत चार वर्षों में सर्वांगीण विकास के लिए जितना काम किया गया है, इतना पहले कभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के विभिन्न निर्णयों एवं बुनियादी सुविधाओं के फलस्वरूप उद्योग-धंधों का विकास हो रहा है, जिसका लाभ यहां के नौजवानों, गरीबों एवं किसानों को मिलेगा।


cm-sahgal-2मुख्यमंत्री आज यहां होटल ताज में क्रेडाई यू.पी. एवं पीएचडी चेम्बर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित स्मार्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर समिट-2016 को सम्बोधित कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने राज्य के सार्वजनिक क्षेत्र के प्रतिष्ठानों को पुरस्कृत किया। यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नवनीत सहगल को एक्ज़ीक्यूटिव आॅफ दी ईयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही, विभिन्न क्षेत्रों में अच्छा कार्य करने के लिए उत्तर प्रदेश भूमि सुधार निगम के प्रबन्ध निदेशक के. बालाजी, यू.पी. बीज विकास निगम के ऋषि राज सिंह, यूपीडेस्को के अजीत दीप सिंह तथा उत्तर प्रदेश मण्डी परिषद के अनूप यादव भी पुरस्कृत किए गए।


मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा बुनियादी सुविधाओं के विकास के लिए जो काम किया जा रहा है, उससे प्रदेश में खुशहाली आएगी और देश तथा प्रदेश प्रगति के रास्ते पर तेजी से बढ़ेगा। जनता द्वारा प्रदान किए गए अवसर का सम्मान करते हुए समाजवादी सरकार ने जो काम किया है, वह अन्य प्रदेशों के लिए एक उदाहरण है। राज्य सरकार की विकास परियोजनाओं की तर्ज पर अब कई राज्य सरकारें काम करने के लिए प्रेरित हो रही हैं। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि चार वर्ष पूर्व इस एक्सप्रेस-वे के बारे में किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। राष्ट्रीय दल जब भूमि अधिग्रहण को लेकर बहस कर रहे थे, उस दौरान समाजवादी सरकार ने किसानों के सहयोग से उनको लाभकारी मूल्य देते हुए बिना किसी विवाद के जमीन प्राप्त करने का काम किया। इसके लिए किसानों को धन्यवाद देते हुए उन्होंने कहा कि यह एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगा।


cm-sahgal-3श्री यादव ने आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का प्रदेश की अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले सम्भावित सकारात्मक परिणामों का उल्लेख करते हुए कहा कि अब लखनऊ से बलिया को जोड़ने के लिए समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम भी तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने इस बात पर खुशी जाहिर की कि समाजवादी सरकार ने किसानों में जो भरोसा पैदा किया है, उसके फलस्वरूप इस एक्सप्रेस-वे के लिए भी जमीन देने के लिए किसान तेजी से आगे आ रहे हैं। शीघ्र ही इसका काम शुरू हो जाएगा। इन एक्सप्रेस-वे के किनारे मण्डियों के निर्माण को प्राथमिकता दी जा रही है, जिसके फलस्वरूप दूध, फल एवं सब्जियों का व्यापार तेजी से बढ़ेगा, जिसका फायदा प्रदेश के किसानों को मिलेगा।


प्रदेश की बिजली व्यवस्था को सुधारने के लिए किए गए प्रयासों की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्पादन, पारेषण एवं वितरण क्षेत्र में जो काम किए गए हैं, उनके फलस्वरूप बिजली उपलब्धता में भारी वृद्धि हुई है। इसी प्रकार ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा एवं ‘102’ नेशनल एम्बुलेंस सर्विस के तहत संचालित एम्बुलेंस से दूर-दराज के क्षेत्रों में भरोसा पैदा हुआ है कि आवश्यकता पड़ने पर गुणात्मक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हो सकती हैं। मेट्रो रेल परियोजनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि लखनऊ के अलावा नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में भी मेट्रो परियोजनाएं तेजी से चल रही हैं। वाराणसी और कानपुर में भी शीघ्र काम शुरू होने जा रहा है। उत्तर प्रदेश को छोड़कर देश के अन्य किसी भी राज्य के इतने नगरों में मेट्रो रेल परियोजनाएं नहीं चल रही हैं।


मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश दूध, गेहूं एवं चीनी उत्पादन में पहले नम्बर पर है। आज जब डिजिटल इण्डिया की बात की जा रही है तो समाजवादी सरकार ने बड़ी संख्या में प्रदेश के छात्र-छात्राओं के हाथों में निःशुल्क लैपटाॅप पहुंचाकर प्रदेश का डिजिटलीकरण करने का काम किया है। राज्य सरकार द्वारा बांटे गए लैपटाॅप की गुणवत्ता को रेखांकित करते हुए उन्होंने कहा कि इतने बड़े पैमाने पर बांटे गए लैपटाॅप की क्वालिटी पर किसी के द्वारा भी प्रश्न चिन्ह नहीं लगाया गया।


श्री यादव ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने सही मायने में प्रदेश का विकास करने का काम किया है। इसीलिए विपक्षी दल विकास की बात करने के बजाय गलत मुद्दा उठाने का काम करते हैं। उन्होंने कहा कि दुनिया में कहीं भी एक दिन में 5 करोड़ से अधिक पौधे नहीं लगाए गए। राज्य सरकार के इस प्रयास की तारीफ पूरी दुनिया में की गई।


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की एम्बुलेंस सेवाओं की तरह ही डायल-100 योजना लाने जा रहे हैं, जिसके माध्यम से आवश्यकता पड़ने पर पुलिस 10 से 15 मिनट में घटना स्थल पर पहुंच जाएगी। उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों को प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर उंगली उठाने से पहले अपने दलों द्वारा शासित प्रदेशों की कानून-व्यवस्था को देखना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने देश की सीमाओं की लचर सुरक्षा व्यवस्था का जिक्र करते हुए कहा कि देश को गलत दिशा में ले जाने का प्रयास किया जा रहा है।


मुख्यमंत्री ने जनपद बुलन्दशहर की घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि इस दुःखद घटना के तुरन्त बाद राज्य सरकार ने तेजी से कदम उठाते हुए कार्यवाही की। इसके बावजूद प्रदेश की छवि को खराब करने का प्रयास किया गया। जबकि दूसरे प्रदेशों में घटी वीभत्स घटनाओं का जिक्र भी नहीं किया गया। समाजवादी सरकार के कार्यों के फलस्वरूप जनता में समाजवादी पार्टी के प्रति विश्वास बढ़ रहा है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि आगामी पीएचडी चेम्बर्स के कार्यक्रम का उद्घाटन भी उनके द्वारा ही किया जाएगा।


इस मौके पर मुख्यमंत्री ने 01, 02 तथा 03 दिसम्बर, 2016 को आयोजित होने वाले थर्ड इण्टरनेशनल एग्री हाॅर्टीटेक, उ.प्र. का उद्घाटन किया। उन्होंने पी.एच.डी. चेम्बर व क्रेडाई द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट का विमोचन भी किया।


कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार श्री आलोक रंजन ने कहा कि अवस्थापना विकास से ही आर्थिक विकास सुनिश्चित होगा। इसीलिए वर्तमान राज्य सरकार अवस्थापना विकास पर बल दे रही है।


मुख्य सचिव दीपक सिंघल ने कहा कि प्रदेश सरकार पारदर्शिता पर विशेष बल प्रदान कर दी है। इसीलिए योजनाओं को लागू करने में अधिक से अधिक तकनीक का उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने प्रदेश में संचालित बुनियादी सुविधाओं से सम्बन्धित परियोजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि गोमती रिवर फ्रण्ट का विकास करने वाली संस्था (जो सिंगापुर में भी काम कर चुकी है) के अनुसार जिस कार्य को सिंगापुर में सम्पन्न होने में 06 साल लग सकते थे, वही कार्य उत्तर प्रदेश में 01 साल में पूरा हो गया।


सांसद एवं क्रेडाई यू.पी. के प्रेसीडेन्ट संजय सेठ ने कहा कि राज्य सरकार की विभिन्न नीतियों के फलस्वरूप देशी एवं विदेशी निवेशकों का तेजी से रूझान उत्तर प्रदेश के लिए बढ़ रहा है।


आवास बंधु के अध्यक्ष एस.के. गर्ग ने मुख्यमंत्री को विकास पुरुष बताते हुए कहा कि राज्य सरकार मध्यम वर्ग, गरीब तथा किसान को आगे बढ़ाने का काम कर रही है। पी.एच.डी. चेम्बर के प्रेसीडेन्ट डाॅ. महेश गुप्ता ने प्रदेश की आर्थिक विकास दर तथा प्रति व्यक्ति आय में हो रही बढ़ोत्तरी हो सराहनीय बताते हुए कहा कि राज्य में ईज़ आॅफ डूइंग बिजनेस के लिए गम्भीरता से प्रयास किया गया है।


पीएचडी चेम्बर आॅफ यूपी के चेयरमैन डाॅ. ललित खेतान ने राज्य सरकार द्वारा विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों के विकास के लिए काफी काम कर रही है। इससे लोगों की क्रय शक्ति बढ़ेगी, जिससे प्रदेश के उद्योग-धंधों का भी विकास होगा।


इस मौके पर राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी सहित कई जनप्रतिनिधि, अधिकारी तथा पीएचडी चेम्बर एवं क्रेडाई यूपी के पदाधिकारी तथा सदस्य मौजूद थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top