Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

भोजपुरी रत्न से सम्मानित हुई हस्तियां, भोजपुरी को रोजगार की भाषा बनाने पर दिया जोर

 Anurag Tiwari |  2016-12-30 17:14:17.0

Varanasi, Indian diaspora, bhojpuri karmyogi samman, Maurititus


तहलका न्यूज ब्यूरो

वाराणसी. भोजपुरी भाषा के उत्थान के लिए प्रयासरत हस्तियों को भोजपुरी रत्न सम्मान से अलंकृत किया गया. गुरुवार को महादेव की नगरी काशी में इंडियन डायस्पोरा और विश्व भोजपुरी सम्मेलन के संयुक्त तत्वाधान प्रथम विश्व प्रवासी भारतीय कार्मयोगी पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन हुआ.

इस आयोजन में उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार हेमन्त तिवारी को भोजपुरी कर्मयोगी सम्मान दिया गया. उनके अलावा यह सम्मान बिहार के एडीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, मॉरीशस में भोजपुरी का झंडा बुलंद करने वाली लेखिका सरिता बुद्धू, भारत में मॉरीशस के राजदूत जगदीश गोवर्धन, लोक गायिका नीतू नूतन सहित कई लोगों को सम्मानित किया गया.
इस अवसर पर बोलते हुए वरिष्ठ पत्रकार हेमंत तिवारी ने भोजपुरी भाषा के सम्मान को बचाए रखने और उसे भाषा का दर्जा दिलाये जाने पर जोर दिया. उन्होंने कहा, "एकरे के लिए हमन के आपन करेजा निकाल के कोसिस करे के पड़ी." उन्होंने आगे कहा, " जबले भोजपुरी के आपन रोजगार क भाषा न बनावल जाई, तबले भोजपुरी के उ सम्मान न मिली, जेकरा खातिर हमन के कोसिस करत बानीं जा."
Varanasi, Indian diaspora, bhojpuri karmyogi samman, Maurititus
इसके अलावा बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन, मॉरीशस के प्रधानमंत्री अनरिुद्ध जगन्नाथ, सदी के माहनायक अमिताभ बच्चन, यूपी के सीएम अखिलेश यादव, भोजपुरी स्टार व बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, बिहार के सीएम नीतीश कुमार, झारखंड के सीएम रघुवर दास, छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह, मालिनी अवस्थी और काशी के अंतरराष्ट्रीय तबला वादक अशोक पांडेय सहित 25 लोगों को भोजपुरी रत्न व विश्व भोजपुरी कर्मयोगी सम्मान दिया गया.

इस सम्मेलन के दूसरे दिन शुक्रवार को मॉरीशस और अन्य देशों से आये प्रतिनिधियों ने भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल किए जाने के लिए अभियान को तेज करने पर जोर दिया. वक्ताओं ने भोजपुरी भाषा में ही अपनी बात सामने रखी. सभी वक्ताओं का जोर रहा कि अब अगर हम भोजपुरी के लिए तैयार नहीं हुए तो काफी देर हो जायेगी. भारत में मॉरीशस के उच्चायुक्त जगदीश गोवर्धन ने कहा कि हमें भोजपुरी आंदोलन से युवाओं को जोड़ना होगा. उन्होंने कहा कि हमारी तहजीब में भोजपुरी होनी चाहिए, तभी आंदोलन को सफल बनाया जा सकेगा.

Varanasi, Indian diaspora, bhojpuri karmyogi samman, Maurititus

मॉरीशस के उच्चायुक्त जगदीश गोवर्धन ने इस अवसर घोषणा की, "वाराणसी में सौ करोड़ रुपये की लागत से प्रवासी भोजपुरी धाम एवं स्मार्ट विलेज बनाया जाएगा. साथ ही पांच एकड़ क्षेत्र में प्रस्तावित भोजपुरी धाम में लाइब्रेरी, म्यूजियम और गेस्ट हाउस के साथ भोजपुरी माई मंदिर बनाने की योजना है." उन्होंने बताया कि मंदिर में भोजपुरी माई की 108 फुट ऊंची प्रतिमा स्थापित की जाएगी. उन्होंने बताया कि मारिशस में भी भोजपुरी माई की 108 फुट ऊंची प्रतिमा स्थापित की गयी है, जहां लोग उनकी पूजा करते हैं.

इस अवसर पर सम्मेलन के संयोजक डॉ. अशोक सिंह ने घोषणा की कि अगले वर्ष अक्तूबर में इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा. इस बीच आगमी 19 से 26 फरवरी के बीच वाराणसी से एक प्रतिनिधिमंडल मारीशस जाएगा, जिसमें संस्कृति, कला व व्यापार क्षेत्र से जुड़े लोग शामिल होंगे.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top