Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

निर्वाचन आयोग ने राजनीतिक दलों को मिलने वाले चन्दे की लिमिट घटाई

 Sabahat Vijeta |  2016-12-18 15:00:00.0

rupees
तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. निर्वाचन आयोग ने केन्द्र सरकार से राजनीतिक दलों को मिलने वाले चन्दे की लिमिट तय करने को कहा है. आयोग ने सरकार से कहा है कि किसी भी राजनीतिक दल को अज्ञात स्रोतों से दो हजार रुपए से ऊपर का चन्दा लेने पर पाबंदी लगा दी जाए. निर्वाचन आयोग ने इस बदलाव के लिए सरकार को लिख दिया है.


दरअसल राजनीतिक दलों को आयकर कानून की धारा 13-ए 1951 में राजनीतिक दलों की आय में टैक्सो से छूट है. इस कानून के तहत राजनीतिक दल को किसी अज्ञात स्रोत से बीस हजार रुपए तक चन्दा लेने की छूट है. बीस हज़ार से ज्यादा चन्दा लेने पर उसे स्रोत की जानकारी देनी होगी. नोटबंदी के बाद राजनीतिक दलों पर काला धन को सफ़ेद करने का इल्जाम लगा है. इस इल्जाम को देखते हुए निर्वाचन आयोग ने यह व्यवस्था की है.


राजनीतिक दलों को मिलने वाले चन्दे के मुद्दे ने तब तूल पकड़ा था जब नोटबंदी के बाद वित्त सचिव अशोक लवासा यह बयान दिया था कि 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बैंक में जमा कराने पर राजनीतिक दलों को कोई टैक्स0 नहीं देना होगा. राजनीतिक दलों के खातों में जमा रकम पर कार्यवाही के लिए आयकर कानून में व्यवस्था तो है लेकिन उनकी आय पर टैक्स की व्यवस्था नहीं है.


सीबीडीटी का इस मुद्दे पर कहना है कि पंजीकृत राजनीतिक दलों को मिलने वाला चन्दा आयकर के दायरे में नहीं आता है, लेकिन राजनीतिक दल के खाते में आने वाले 20 हजार रुपये से ऊपर के चन्दे पर टैक्सह तय है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top