Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

चुनावो के बीच अब फिर बजा "राम मन्दिर" का राग

 Utkarsh Sinha |  2017-01-24 07:55:14.0

चुनावो के बीच अब फिर बजा राम मन्दिर का राग

तहलका न्यूज ब्यूरो

लखनऊ. कभी राम मंदिर के नाम पर सियासत में लम्बी छलांग लगाने वाली भारतीय जनता पार्टी भले ही अब सीधे तौर पर इस मुद्दे पर बोलने से परहेज करती हो मगर चुनावी मौसम में आरएसएस और विश्व हिन्दू परिषद् जैसे उसके समर्थक संगठन मतदाताओं को राम मंदिर की याद दिलाने से नहीं चूकते.

हर बार की तरह इस बार भी ऐन चुनावो के वक्त एक बार फिर राम मंदिर मुद्दे को चर्चा में लाने की तैयारी हो चुकी है. इलाहबाद में चल रहे माघ मेला में विश्व हिन्दू परिषद् ने हिन्दू धर्माचार्यों ने राम मंदिर के मुद्दे पर एक बैठक की और पूरे देश में 600 टोलियां बना कर लोगो के बीच इस मुद्दे को ले जाने का प्रस्ताव किया.

वीएचपी की यह टोलियाँ गाँव गाँव जा कर जनमानस को राम मंदिर के मुद्दे पर प्रेरित करेंगी. इन टोलियों में प्रमुख संत ही नेतृत्व की जिम्मेदारियां सम्हालेंगे.

विहिप के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री चंपत राय ने कहा कि संत समाज ही समाज को प्रेरणा देता है और हिंदू समाज की रक्षा संतों के मार्गदर्शन से होती है. राम जन्म भूमि पर निर्णय माननीय न्यायालय को करना है. कानून, निर्णय दोनों के साथ संतों एवं हिंदू समाज की सजगता ही हिंदू संस्कृति है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top