Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

छठे चरण के चुनाव में बसपा ने दिया सबसे ज्यादा अपराधियों को टिकट

 shabahat |  2017-03-01 11:26:41.0

छठे चरण के चुनाव में बसपा ने दिया सबसे ज्यादा अपराधियों को टिकट


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में राजनीतिक दलों का अपराधियों और करोड़पतियों से प्रेम सर चढ़कर बोल रहा है. छठे चरण के चुनाव में पूर्वांचल के सात जिलों की 49 सीटों पर बड़ी तादाद में आपराधिक रिकार्ड रखने वाले प्रत्याशियों को टिकट दिया गया है. छठे चरण में 20 फीसदी अपराधी तो 25 फीसदी करोड़पति चुनाव मैदान में हैं. अब तक हुए पांच चरणों के चुनावों को देखें तो यह औसत काफी अधिक है. अपराधियों को टिकट देने के मामले में इस चरण में बसपा 49 फीसदी के साथ सबसे आगे है. भाजपा 40 फीसदी के साथ दूसरे नम्बर पर है. समाजवादी पार्टी 38 फीसदी के साथ तीसरे और कांग्रेस 30 फीसदी के साथ चौथे नम्बर पर है.

छठे चरण के चुनाव में 17 फीसदी प्रत्याशियों पर हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण और महिला हिंसा जैसे गंभीर मामले दर्ज हैं.

करोड़पति प्रत्याशियों की बात करें तो सबसे ज्यादा 73 फीसदी करोड़पति प्रत्याशी भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. बसपा ने 71 फीसदी तो सपा ने 70 फीसदी करोड़पतियों को मैदान में उतारा है. छठे चरण के उम्मीदवारों की औसत सम्पत्ति 1.59 करोड़ रुपये है.
महिला अधिकारों पर आन्दोलन चलाने वाले राजनीतिक दल महिलाओं के प्रति कितना गंभीर हैं इसका अंदाजा लगाना हो तो पता चलता है कि छठे चरण में महिला प्रत्याशियों की तादाद दहाई में भी नहीं पहुंची है. छठे चरण में महज 9 फीसदी महिला प्रत्याशी मैदान में हैं. छठे चरण में सात जिलों आजमगढ़, बलिया, देवरिया, गोरखपुर, कुशीनगर, महराजगंज और मऊ की 49 विधानसभा सीटों पर मतदान होना है.

उत्तर प्रदेश विधनासभा के छठे चरण के प्रत्याशियों के आपराधिक, आर्थिक व शैक्षणिक रिकार्ड की विस्तृत समीक्षा के बाद एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटक रिफार्म (एडीआर) और यूपी इलेक्शन वॉच ने जो रिपोर्ट जारी की है उसके मुताबिक बड़े पैमाने पर बाहुबली व धनबली चुनाव मैदान में ताल ठोंक रहे हैं. एडीआर ने छठे चरण में नामांकन करने वाले सभी 635 प्रत्याशियों के नामांकन दाखिल करते समय दिए गए शपथपत्रों के आकलन के बाद यह रिपोर्ट तैयार की है.

एडीआर की रिपोर्ट जारी करते हुए प्रदेश कोर कमेटी के सदस्य डॉ अजय प्रकाश व समन्वयक अनिल शर्मा ने बताया कि गंभीर मामलों के अपराधियों को टिकट देने के मामले में बसपा सबसे आगे है. उसने 41 फीसदी अपराधियों को टिकट दिया है.

करोड़पतियों को टिकट देने के मामले में यूँ तो भाजपा अव्वल है मगर इस मामले में बसपा और सपा भी उससे ज्यादा पीछे नही हैं. टॉप थ्री अमीरों की बात करें तो वह तीनों बसपा के प्रत्याशी हैं. छठे चरण के प्रत्याशियों में टाप तीन अमीर बसपा के टिकट पर ही लड़ रहे हैं. नामांकन के समय दिए गए शपथपत्र के मुताबिक छठे चरण के सभी प्रत्याशियों में सबसे अमीर आजमगढ़ जिले की मुबारकपुर से बसपा के शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली 118 करोड़ रुपये की सम्पत्ति के मालिक हैं. चिल्लूपार से बसपा के टिकट पर ही चुनाव लड़ रहे विनयशंकर तिवारी के पास कुल 67 करोड़ की सम्पत्ति है. तीसरे सबसे अमीर प्रत्याशी नौतनवां, महराजगंज के बसपा प्रत्याशी एजाज अहमद हैं जिनकी कुल संपत्ती 52 करोड़ रुपये है.

मऊ के बसपा प्रत्याशी मुख्तार अंसारी पर सबसे ज्यादा 6 करोड़ और मुबारकपुर के बसपा प्रत्याशी गुड्डू जमाली पर 2 करोड़ का कर्ज है.

छठे चरण में अपनी किस्मत आजमाने मैदान में उतरे 53 फीसदी प्रत्याशी स्नातक या इससे ऊपर की शिक्षा प्राप्त हैं. इस चरण में भी बड़ी तादाद में युवा प्रत्याशी मैदान में हैं. छठे चरण का चुनाव लड़ रहे सभी प्रत्याशियों में 67 फीसदी की आयु 25 से 50 साल के बीच है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top