Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

दलित छात्र अर्पित ने कहा- मायावती मेरी पसंदीदा नेता हैं, 'नोटबंदी' से गरीब और गरीब हो गए

 Abhishek Tripathi |  2017-02-10 04:53:26.0

दलित छात्र अर्पित ने कहा- मायावती मेरी पसंदीदा नेता हैं, नोटबंदी से गरीब और गरीब हो गए

तहलका न्यूज ब्‍यूरो
मैनुपरी. अर्चित कुमार अभी स्‍कूल जाता है। अर्चित SBRL अकादमी में पढ़ता है। मैनुपरी से करीब 4-5 किमी. दूर अर्चित का स्‍कूल है। बताया जाता है कि अर्चित पढ़ने में काफी तेज है और अपने क्‍लास का टॉपर है। सबसे खास बात है कि अर्चित कुमार एक दलित छात्र है। यहां अर्चित का जिक्र इसलिए किया जा रहा है क्‍योंकि उसने नोटबंदी, भ्रष्टाचार को लेकर पीएम मोदी को कठघरे में खड़ा कर दिया है।

अर्चित कुमार से जब नोटबंदी को लेकर सवाल किया गया कि इसके क्‍या फायदे और नुकसान हैं तो उसने खुलकर जवाब दिया। अर्चित ने कहा कि मेरे कई दोस्‍तों ने मुझे नोटबंदी के फायदे बताए और ये भी कहा कि इससे भ्रष्टाचार खत्‍म होगा। इसके साथ ही दोस्‍तों ने यह भी बताया कि नोटबंदी के बाद काला धन वापस आया है और इस काले धन से देश का विकास होगा।

अब क्‍या कहते हैं अर्चित कुमार
अर्चित कुमार ने बताया कि नोटबंदी के बाद सबसे ज्‍यादा तकलीफ 'कॉमन मैन' को हुई है। वो न घर का रहा और न घाट का। मेरा सवाल पीएम मोदी से है कि यदि कोई काला धन वापस आया है तो कितना आया है, इस आंकड़े को देश की जनता के सामने रखना चाहिए। नोटबंदी का फैसला जल्‍दी में लिया गया और इसके लिए पहले से कोई तैयारी नहीं की गई थी। अर्चित ने कहा 'अमीर और अमीर हो गए, गरीब और गरीब हो गए।' यही नोटबंदी का सच है।

एक दलित छात्र है दलित
अर्चित कुमार एक दलित छात्र है। अर्चित मैनुपरी का रहने वाला है, लेकिन बसपा सुप्रीमो मायावती उसकी पसंदीदा नेता हैं। अर्चित ने बताया कि मायावती ने दलितों को समाज में जगह देने के लिए जो कदम उठाए हैं, वो कोई भी नहीं कर सकता है। समाज में दलितों को सम्‍मान दिलाने का काम मायावती ने किया है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top