Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अमेरिका रिटर्न बेटी के लिये इस बाहुबली ने छोड़ दी अपनी अविजित सीट

 shabahat |  2017-01-25 12:17:19.0

अमेरिका रिटर्न बेटी के लिये इस बाहुबली ने छोड़ दी अपनी अविजित सीट


तहलका न्यूज़ ब्यूरो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी की लहर चले और किसी भी पार्टी की सरकार बने लेकिन रायबरेली की सदर सीट पर अखिलेश सिंह का ही क़ब्ज़ा रहता है. बाहुबली विधायक अखिलेश सिंह पहले कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीता करते थे लेकिन उनकी बाहुबली छवि और उन पर चल रहे संगीन धाराओं के मुक़दमों की वजह से कांग्रेस ने उनसे दूरी बना ली तो अखिलेश भी कभी कांग्रेस के पास टिकट मांगने नहीं गये. वह रायबरेली की सदर सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ते हैं और विधानसभा में आराम से पहुँच जाते हैं. पिछले पांच बार से लगातार चुनाव जीतते आ रहे अखिलेश ने इस बार अपनी विरासत अपनी बेटी अदिति को सौंपने का मन बनाया तो कांग्रेस ने भी खुले मन से अदिति का स्वागत किया और उन्हें टिकट दे दिया.



अमेरिका से पढ़ाई करने के बावजूद अदिति ने अपने पिता की बनाई राह पर ही चलने का फैसला किया और अखिलेश सिंह ने भी बेटी के लिये अपनी परम्परागत सीट छोड़ देने का फैसला कर लिया. अखिलेश चाहते तो बेटी को निर्दलीय भी चुनाव लड़ा सकते थे लेकिन उन्होंने बेटी को कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा भेजने का फैसला किया. अमेरिका से एमबीए करने वाली अदिति इस बार अखिलेश सिंह की सीट से अपना भाग्य आजमा रही हैं.



अखिलेश सिंह की बेटी ने पिता की विरासत संभालने का फैसला किया तो पिता की राय पर पहले कांग्रेस की सदस्यता ली. उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आज़ाद ने अदिति को कांग्रेस की सदस्यता दिलाई और रायबरेली सदर से उन्हें टिकट भी दी दिया. इस सीट की खासियत यह है कि लोकसभा चुनाव में इस सीट का 80 फीसदी वोट सोनिया गांधी के खाते में जाता है लेकिन विधानसभा चुनाव में अखिलेश सिंह के अलावा कोई और जनप्रतिनिधि इस क्षेत्र के लोगों को स्वीकार नहीं है. अखिलेश सिंह निर्दलीय लड़ते हैं लेकिन जीत कभी उनसे कतरा कर नहीं गुज़रती है. यही वजह है कि इस बार अखिलेश अपनी बेटी को सेक्योर सीट से लड़ाने जा रहे हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top